कोरोना से अमेरिका के अस्पतालों में कम पड़ने लगे बेड, वायरस से हर मिनट में हो रही इतनी मौत

2020-11-19T17:16:55.693

इंटरनेशनल डेस्क: कोविड-19 से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक अमेरिका में इस बीमारी के कारण 2,50,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और यहां एक बार फिर संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इस बीमारी ने दुनिया भर में 13,49,000 लोगों की जान ले ली है। जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार अमेरिका में अब तक 2,50,537 लोगों की मौत हो चुकी है और 1.15 करोड़ से ज्यादा लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुयी है। यह दुनिया भर में किसी भी देश की तुलना में सबसे अधिक है। अमेरिका में हालात बद से बदतर होने लगे हैं। यहां के अस्पतालों में बेड कम पडऩे लगे हैं। 

PunjabKesari

सीएनएन की खबर के अनुसार कोरोना वायरस के कारण अब हर मिनट कम से कम एक अमेरिकी की मौत हो रही है। इस बीमारी के कारण 29 फरवरी को पहली मौत होने की खबर मिली थी और मृतकों की कुल संख्या कम से कम 2,50,029 हो गयी। जॉर्ज वॉशिंगटन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉ जोनाथन रीनर ने कहा कि स्थिति बदतर होती जा रही है। उन्होंने बुधवार को कहा, कल हमने अमेरिका में मौतों की भयानक संख्या देखी... यह तीन हफ्ता पहले संक्रमित लोगों की संख्या को दर्शाती है। रीनर ने कहा, दो से तीन सप्ताह पहले, हम प्रति दिन औसतन 70,000 से 80,000 (नए) मामले देख रहे थे। कल लगभग 1,55,000 (नए) मामले सामने आए। यदि आप आज 1,700 मौतों पर चिंतित हैं, तो अगले दो से तीन सप्ताह में हम एक दिन में 3,000 लोगों की मौत देखने जा रहे हैं।

PunjabKesari

संक्रमण के मामलों में वृद्धि का असर अस्पतालों में भी दिख रहा है और कुछ स्थानों पर स्वास्थ्य कर्मियों की भी कमी महसूस की जा रही है। मंगलवार को रिकार्ड 76,830 मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया। अमेरिका के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ एंथोनी फौसी ने कहा कि देश एक अनिश्चित समय में गलत दिशा में जा रहा है और मौसम के ठंडा होने से लोगों के अंदर एकत्र होने का अधिक अनुमान है। उन्होंने बीबीसी न्यूज चैनल के साथ एक साक्षात्कार में आगाह किया कि संक्रमण के मामलों में वृद्धि से मौतों की संख्या में भी वृद्धि हो सकती है। फौसी ने लोगों से मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाए रखने और भीड़-भाड़ से बचने का आग्रह किया। उन्होंने लोगों से कहा कि वे कुछ और समय धैर्य बनाए रखें क्योंकि मदद बस पहुंचने ही वाली है। 

PunjabKesari
 


Edited By

Anil dev

Related News