बांग्लादेश के मौलाना का फेसबुक इमोजी ''HA HA'' के खिलाफ फतवा जारी, इस्लाम में बताया हराम

2021-06-24T12:31:00.48

इंटरनेशनल डेस्कः बांग्लादेश के एक मौलवी ने फेसबुक के स्माइली इमोजी को लेकर अनोखा फरमान जारी किया है। बांग्लादेशी मौलाना अहमदुल्लाह ने फेसबुक के 'HA HA' इमोजी के खिलाफ फतवा जारी कर इसे इस्लाम में हराम बताया है। इस मौलाना की नजर में 'HA HA' इमोजी हराम है  । इस मौलाना के सोशल मीडिया पर लाखों फॉलोअर्स हैं और वह अक्सर टीवी शो पर भी धार्मिक विषयों पर चर्चा करते दिखते हैं।
ढाका ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक फेसबुक-यूट्यूब पर उनके 30 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।


शनिवार को अहमदुल्लाह ने तीन मिनट लंबा वीडियो फेसबुक पर पोस्ट किया। वीडियो में उन्होंने फेसबुक पर लोगों का मजाक बनाए जाने पर चर्चा की और 'हाहा' इमोजी के खिलाफ फतवा जारी करते हुए यह बताया कि यह मुस्लिमों के लिए हराम है। वीडियो में वह कह रहे हैं, 'आजकल हम फेसबुक के हाहा इमोजी का इस्तेमाल लोगों का मजाक बनाने के लिए करते हैं।' इस वीडियो को अभी तक 20 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है।


वीडियो में अहमदुल्लाह कहते हैं, 'अगर हम हंसी-मजाक के लिए 'HA HA' करते हैं और पोस्ट करने वाला शख्स भी इसे उसी तरह समझता है तो कोई दिक्कत नहीं है  लेकिन अगर आपका रिएक्शन लोगों का उपहास करने के मकसद से दिया गया है तो यह इस्लाम में पूरी तरह हराम है।' अहमदुल्लाह ने आगे कहा, 'अल्लाह के लिए आप अपने आपको ऐसा करने से रोकें। लोगों का उपहास करने के लिए हाहा इमोजी का इस्तेमाल न करें। अगर आप एक मुस्लिम को दुखी करेंगे, तो संभव है कि वह इस तरह की अभद्र भाषा में जवाब दे, जिसकी उम्मीद न हो।'।  

 


 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Recommended News