See More

UP Board: परीक्षा में 8 लाख छात्र हिंदी में हुए फेल, कई सालों से है ये हाल

2020-06-30T10:01:16.917

नई दिल्ली- यूपी बोर्ड की ओर से 27 जून को कक्षा 10वीं-12वीं के रिजल्ट घोषित किए थे। इस बार की बोर्ड परीक्षा में हिंदी विषय के पेपर में लगभग 8 लाख से ज्यादा छात्र फेल हो गए हैं। इस साल कक्षा 12वीं में 2.70 लाख छात्र हिंदी के पेपर में फेल हुए हैं, वहीं कक्षा 10वीं में हिंदी विषय में फेल होने वाले छात्रों की संख्या 5.28 लाख है।

UP Board

इसके अलावा, लगभग 2.39 लाख छात्रों ने हिंदी के पेपर को छोड़ दिया था। इस बात से अंदाजा लगाया जाता सकता है छात्र कितनी बड़ी संख्या में हिंदी के पेपर को नजरअंदाज कर रहे हैं। 

2019 में हिंदी में फेल छात्रों की संख्या
पिछले साल 10वीं-12वीं की कक्षा में 10 लाख छात्र हिंदी के पेपर में फेल हो गए थे।

2018 में हिंदी में फेल छात्रों की संख्या
साल 2018 में कुल 56 लाख छात्रों में से, 11 लाख से अधिक लोग यूपी बोर्ड की 10वीं-12वीं में हिंदी के पेपर में असफल रहे थे। बता दें, जो छात्र इस साल हिंदी के पेपर में फेल हुए हैं उन्हें सप्लीमेंट्री परीक्षा देने का मौका किया जाएगा।

गौरतलब है कि यूपी बोर्ड ने कक्षा 10वीं-12वीं की परीक्षा के रिजल्ट 27 जून को घोषित किए थे जिसमें 10वीं में 83.31% और 12वीं में 74.63% छात्र पास हुए हैं. लड़कियों ने एक बार फिर बाजी मारी है। 10वीं कक्षा में रिया जैन ने टॉप किया है जबकि 12वीं में अनुराग मलिक पूरे प्रदेश में अव्वल रहे हैं। अनुराग को 97% और रिया जैन को 96.67% नंबर मिले हैं।
 


Author

Riya bawa

Related News