जेईई-मेन में असम के ‘टॉपर’ की जगह परीक्षा देने का आरोपी दिल्ली में गिरफ्तार

2020-12-01T17:44:06.403

नई दिल्ली: गुवाहाटी पुलिस ने जेईई-मेन परीक्षा में असम में ‘टॉप’ करने वाले उम्मीदवार के बदले कथित तौर पर परीक्षा देने वाले व्यक्ति को दिल्ली में गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बताया कि अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) सुप्रोतिव लाल बरूआ के नेतृत्व में एक दल ने प्रदीप कुमार को गिरफ्तार किया। इस मामले में गिरफ्तार होने वाला वह आठवां आरोपी है।

टॉपर नील नक्षत्र दास भी गिरफ्तार
इस मामले के मुख्य आरोपी भार्गव डेका को एक नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। वह शहर के कोचिंग संस्थान ‘ग्लोबल एजु लाइक’ का मालिक है। इस मामले में अन्य आरोपी नील नक्षत्र दास को भी गिरफ्तार किया गया था जिसने परीक्षा में ‘टॉप’ किया था। फिलहाल वह जमानत पर है।

पूरा मामला
दरअसल, देश के आईआईटी सहित अन्य चुनिंदा इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए जेईई की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। सिंतबर में हुई जेईई (मेन्स) परीक्षा में 99.8 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले असम के कैंडिडेट अभ्यर्थी नील नक्षत्र दास ने परीक्षा में अपनी जगह किसी और को बैठाया था। बताया जा रहा है कि आरोपी परीक्षा देने वाले दिन सेंटर आया था। वहां पर बायोमेट्रिक, आंसर शीट पर नाम और रोल नंबर लिखने सहित अन्य औपचारिकताएं पूरी कर वापस चला गया। जिसके बाद उसकी जगह किसी अन्य ने परीक्षा दी। इस फर्जीवाड़े में एक निरीक्षक भी शामिल है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई रिकॉर्डिंग
अभ्यर्थी की उसके मित्र से टेलीफोन पर की गई कथित बातचीत की एक ऑडियो रिकॉर्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल हुई जिसके बाद यह मामला सामने आया। पुलिस ने बताया कि अभ्यर्थी ने अपने मित्र के साथ फोन कॉल के दौरान धोखाधड़ी की बात कबूल की थी और उक्त कॉल रिकॉर्ड किया गया था।


Author

rajesh kumar

Recommended News