कल उदय होंगे गुरु, सोने में आएगा उछाल

2020-01-09T09:32:38.083

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

जालन्धर (नरेश): पिछले साल की 15 दिसम्बर से धनु राशि में अस्त चल रहे देव गुरु बृहस्पति 10 जनवरी को इसी राशि में उदय हो जाएंगे। धनु राशि में गुरु के साथ-साथ शनि, सूर्य, बुध व केतू का गोचर भी हो रहा है।

लिहाजा इस समय अस्त गुरु की स्थिति ज्यादा मजबूत नहीं है। लेकिन 10 जनवरी के बाद गुरु की स्थिति लगातार मजबूत होती जाएगी क्योंकि 13 जनवरी को बुध इस राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर जाएंगे। इसके अगले ही दिन 14 जनवरी को सूर्य भी इस राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इसके बाद 24 जनवरी को शनि भी धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे और धनु राशि में सिर्फ गुरु व केतू ही बचेंगे। धनु राशि गुरु की अपनी मूल त्रिकोण राशि है और इस राशि में गुरु अब ज्यादा मजबूती से काम करेंगे। गुरु के मजबूत होने से न सिर्फ अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा बल्कि सोने के दामों में भी तेजी आएगी। 

8 मार्च से गुरु अपने मित्र सूर्य के नक्षत्र उत्तराषाढ़ा से गोचर करना शुरू करेंगे और इसके बाद अर्थव्यवस्था व सोने के दाम में ज्यादा तेजी देखी जा सकती है। 

PunjabKesari Tomorrow will rise Guru gold will surge

14 मई को वक्री होंगे गुरु
धनु राशि में गोचर कर रहे गुरु 30 मार्च को मकर राशि में प्रवेश करेंगे और इस दौरान ही गुरु 14 मई को वक्री हो जाएंगे और वक्रावस्था में ही 30 जून को वापस धनु राशि में प्रवेश करेंगे। गुरु यहां 13 सितम्बर तक वक्री रहने के बाद फिर मार्गी होंगे और 20 नवम्बर तक धनु राशि में ही गोचर करेंगे। गुरु की वक्रावस्था के दौरान उन जातकों को खास लाभ होगा जिनकी कुंडली में गुरु वक्रवास्था में पड़े हुए हैं। 

बृहस्पति के 5 नवम्बर को धनु राशि में हुए गोचर के बाद से ही देव गुरु अच्छी स्थिति में आ गए थे लेकिन इसी राशि में 26 दिसम्बर को ग्रहण लगने के कारण इसका असर देव गुरु बृहस्पति पर भी पड़ा था और एक ही राशि में 6 ग्रह विराजमान होने के कारण गुरु का पूरा प्रभाव नहीं मिल पा रहा था लेकिन अब 24 जनवरी के बाद गुरु अर्थव्यवस्था के साथ-साथ उन जातकों को भी अच्छे फल देंगे जिनकी कुंडली में गुरु की महादशा अथवा अंतर्दशा चल रही है। 
-आशु मल्होत्रा, जालंधर

PunjabKesari Tomorrow will rise Guru gold will surge

      


Niyati Bhandari

Related News