Prediction: गुरु और शनि का कंबीनेशन इन राशियों के लिए रहेगा शानदार

2020-11-10T06:20:27.5

 शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Shani Guru Yog On 20th November : नवंबर का महीना त्योहारों और ज्योतिष दोनों की दृष्टि से बहुत खास है। सौरमंडल में ग्रह-नक्षत्रों के भी कई कंबीनेशन बन रहे हैं। सबसे खास कंबीनेशन बनने वाला है 20 नवंबर को जब देव गुरु बृहस्पति और शनि इकट्ठे मकर राशि में एक साथ विराजमान होकर कई राशियों को शुभ फल प्रदान करेंगे।

PunjabKesari Shani Guru Yog prediction
Shani And Guru Yog On 20th November: शनिदेव पहले से ही अपनी राशि मकर में विराजमान हैं और अगले साल भी इसी राशि में रहने वाले हैं। देव गुरु बृहस्पति 20 नवंबर को अपनी धनु राशि से शनि की मकर राशि में गोचर करने वाले हैं, जो उनकी नीच राशि है ।  6 अप्रैल 2021 तक अपनी इसी नीच मकर राशि में गोचर करने के बाद वह कुंभ राशि में चले जाएंगे, जो शनि की ही राशि है।

PunjabKesari Shani Guru Yog prediction
Guru Shani Yoga in Vedic Astrology: 20 नवंबर को शनि और देव गुरु बृहस्पति जब एक साथ मकर राशि में गोचर करेंगे तो 6 अप्रैल 2021 तक इसका असर देखने को मिलेगा। ज्योतिष में देव गुरु बृहस्पति और शनि के योग को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। यह दोनों ग्रह भले ही आपस में अभिन्न मित्र न हों लेकिन एक दूसरे के प्रति दुश्मनी का भाग भी नहीं रखते यानि एक दूसरे को नुकसान नहीं पहुंचाते। एक दूसरे के प्रति इनकी दृष्टि सम रहती है यानी सामान्य संबंध को दर्शाती है। नव ग्रहों में बृहस्पति को देव गुरु का दर्जा हासिल है और शनि देवता भी देव गुरु बृहस्पति का सम्मान करते हैं।

Shani Transit: शनिदेव को जहां न्याय के देवता माना जाता है और कहा जाता है कि शनिदेव कर्मों के मुताबिक अच्छा या बुरा फल इसी जीवन काल में प्रदान करते हैं। वहीं देव गुरु बृहस्पति दांपत्य जीवन और कैरियर में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। हमें अध्यात्म और भक्ति की तरफ ले जाते हैं।  हमें ज्ञान का मार्ग दिखाते हैं।

PunjabKesari Shani Guru Yog prediction
Effects of Guru Shani Conjunction in 2020: जिस व्यक्ति की कुंडली में देव गुरु बृहस्पति और शनि देव दोनों शुभ स्थिति में होते हैं, वह व्यक्ति जीवन में नई ऊंचाइयां हासिल करता है। 20 नवंबर को देव गुरु बृहस्पति और शनि देव मकर राशि में कंबीनेशन बनाने जा रहे हैं । मकर राशि शनि की राशि है और बृहस्पति इस राशि में बैठकर नीच के हो जाते हैं। हालांकि अपनी नीच राशि में बैठने के बाद देव गुरु बृहस्पति अनिष्ट फल तो नहीं देते लेकिन उनका शुभ प्रभाव थोड़ा कम हो जाता है। शनि के साथ जब वह कंबीनेशन बनायेंगे, तो देश की अर्थव्यवस्था पर भी इसका असर पड़ेगा। शिक्षा के क्षेत्र में भी कई तब्दीलियां देखने को मिलेंगी। आईटी क्षेत्र में फिर से उछाल आने लगेगा।

PunjabKesari Shani Guru Yog prediction
Effects Of Guru and Shani In 2020: मिथुन राशि , सिंह राशि,  तुला राशि , वृश्चिक राशि , धनु राशि , कुंभ राशि और मीन राशि के लिए इन दोनों ग्रहों का कंबीनेशन बहुत शानदार रहने वाला है।

मिथुन राशि वालों के दांपत्य जीवन में खुशियां आएंगी।  प्रमोशन का योग बनेगा ।

सिंह राशि वालों को विरोधियों पर जीत हासिल होगी और रुका हुआ धन भी वापस मिलने के चांस है ।।

तुला राशि वालों का कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और तरक्की के रास्ते भी बनेंगे।

वृश्चिक राशि वालों की लंबे समय से अटकी हुई समस्याओं का हल निकलेगा और कई स्रोतों से आमदनी होगी।

धनु राशि वालों की आर्थिक स्थिति भी बेहतर होगी और संतान को लेकर चली आ रही कोई चिंता भी दूर होगी। यश और मान बढ़ेगा।

कुंभ राशि वालों का आर्थिक पक्ष और मजबूत होगा। विद्यार्थियों के लिए भी समय बढ़िया रहेगा।

मीन राशि वाले नया वाहन या मकान खरीद सकते हैं । पद प्रतिष्ठा दोनों बढ़ेगी।

मेष राशि, वृषभ राशि, कर्क राशि और मकर राशि वालों को थोड़ा स्वास्थ्य के प्रति सजग रहना होगा। इसके अलावा कोई अशुभ प्रभाव, इन दोनों ग्रहों के कंबीनेशन का नहीं होगा।

कन्या राशि वालों के लिए इन ग्रहों का कंबीनेशन सामान्य रहने वाला है यानि न बहुत बढ़िया न बहुत खराब।

गुरमीत बेदी
gurmitbedi@gmail.com

PunjabKesari Shani Guru Yog prediction


Niyati Bhandari

Recommended News