5 अप्रैल को एक ही डिग्री में आ रहे हैं शनि व मंगल , मचा सकते हैं घमासान !

punjabkesari.in Saturday, Mar 05, 2022 - 12:00 PM (IST)

शास्त्रों की बात,जानें धर्म के साथ
5 अप्रैल को ज्योतिष में एक अशुभ योग बन रहा है। इस दिन सुबह 7 बजकर 13 मिनट पर हमारे नव ग्रहों में सेनापति का दर्जा प्राप्त मंगल ग्रह और ज्योतिष में न्याय का कारक माने जाने वाले शनि ग्रह मकर राशि में एक ही डिग्री में आ रहे हैं। इन दोनों ग्रहों को क्रूर ग्रहों का दर्जा भी प्राप्त है और जब इन दोनों ग्रहों का एक ही डिग्री में एक ही राशि में कंबीनेशन बनता है तो वह ज्योतिष के नजरिए से बिल्कुल भी शुभ नहीं होता । ज्योतिष में मंगल और शनि के कंबीनेशन को द्वंद योग कहा जाता है। द्वंद यानी आपस में घमासान मचाने वाला योग। वैसे भी शनि और मंगल में आपस में घमासान रहता है।

मंगल ग्रह सौरमंडल में सूर्य से चौथा ग्रह है और  इसे उग्र ग्रह माना जाता है। ज्योतिष में इसे "लाल ग्रह" के नाम से भी जाना जाता है। कुंडली में मंगल शुभ स्थान पर विराजमान हो तो राजयोग दिलाता है। यानी मंगल अगर आप पर मेहरबान हो तो जीवन में हर ओर मंगल ही मंगल होता है लेकिन कमजोर या अशुभ मंगल जिंदगी मे अमंगल का विष घोल देता है।

मंगल ग्रह वैसे तो 26 फरवरी को मकर राशि में प्रवेश कर रहे हैं , जहां पहले से ही शनिदेव विराजमान हैं। मकर राशि मंगल ग्रह की उच्च राशि है जबकि शनिदेव की अपनी राशि है। 26 फरवरी को ही मकर राशि में शनिदेव और मंगल की युति बन जाएगी लेकिन 5 अप्रैल को सुबह 7:13 पर शनिदेव और मंगल दोनों एक ही डिग्री में आ जाएंगे। मंगल भी इस दिन 28 डिग्री में होंगे और शनिदेव भी इस दिन 28 डिग्री में होंगे।   मकर राशि में इन दोनों ग्रहों का एक ही डिग्री में आना शुभ नहीं है। 

इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तनाव, झगड़े और दुर्घटनाएं बढ़ने की आशंका बनती है।  युद्ध,  विवाद और तनाव जैसी स्थिति बनती है। 30 अप्रैल को साल 2022 का पहला सूर्य ग्रहण भी लगने जा रहा है। यह ग्रहण 30 अप्रैल को दोपहर  12:15 से लेकर शाम के 4:07 तक लगेगा। इस ग्रहण को दक्षिणी और पश्चिमी अमेरिका अफ्रीका महाद्वीप के उत्तर पूर्वी भाग अटलांटिक और अंटार्टिका में देखा जा सकेगा। मंगल और शनि की युति के बीच सूर्य ग्रहण का होना किसी प्राकृतिक आपदा का सबब भी बन सकता है।

26 फरवरी को जब मंगल अपना राशि परिवर्तन करके अपनी उच्च मकर राशि में आएंगे और शनि के साथ कंबीनेशन बनाएंगे तो तीन राशि वालों को सतर्क रहना होगा। ये 3 राशियां हैं-  कर्क राशि, धनु राशि और कुंभ राशि।

कर्क राशि वालों के लिए मंगल का यह गोचर ज्यादा शुभ नहीं है । मैरिड लाइफ और कैरियर में थोड़ी मुश्किलें बढ़ा सकता है। पार्टनरशिप में अगर कोई काम कर रहे हैं तो महत्वपूर्ण निर्णय थोड़े समय के लिए टाल देने चाहिए।

धनु राशि वालों के लिए मंगल का गोचर आर्थिक स्थिति पर असर डालेगा प्रॉपर्टी संबंधी कोई विवाद हो सकता है या पुराना विवाद फिर से सिर उठा सकता है । धन के लेन-देन में सावधानी रखें।

कुंभ राशि वालों के लिए समय ठीक नहीं है इसलिए कोई महत्वपूर्ण निर्णय इस अवधि में नहीं लेना चाहिए और ना ही कोई बड़ी डील फाइनल करनी चाहिए । वाद विवाद और झगड़े की स्थिति से बचना चाहिए अन्यथा मामला कोर्ट कचहरी तक जा सकता है।

गुरमीत बेदी 
gurmitbedi@gmail.com


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News