मंगलवार विशेष: हर संकट से पार लगाएंगे, हनुमान जी के ये उपाय

2019-12-10T07:26:38.113

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

यदि आप अपने जीवन में उतार-चढ़ाव का सामना कर रहे हैं तो कहीं न कहीं इसके लिए मंगल ग्रह भी रिस्पॉन्सिबल हो सकता है। आज मंगलवार है, ये दिन रामभक्त हनुमान जी को समर्पित है। कहते हैं इस दिन वे विशेष रूप से वरदान देने की मुद्रा में रहते हैं। हनुमान जी की कृपा से आप हर संकट से पार लगा सकते हैं, करें ये उपाय

PunjabKesari Mangalwar special

हनुमान चालीसा नियम से पढऩा शुरू कर दें। प्रतिदिन संध्यावंदन के साथ हनुमान चालीसा पढऩी चाहिए। संध्यावंदन घर में या मंदिर में की जाती है। पवित्र भावना और शांतिपूर्वक हनुमान चालीसा पढऩे से हनुमान जी की कृपा प्राप्त होती है, जो हमें हर तरह की जानी-अनजानी होनी-अनहोनी से बचाती है। हनुमान चालीसा पढऩे के बाद हनुमान जी की कपूर से आरती करें। हनुमान चालीसा पढ़ना संभव न हो तो कैसेट सुनें।

PunjabKesari Mangalwar special

मंगलवार या शनिवार की सायं हनुमान जी के मंदिर में एक नारियल और लाल रंग का प्रसाद चढ़ाएं। नारियल आधा तुड़वा कर मंदिर में बांट आएं, आधा खा लें।

सिंदूर, चमेली के तेल का लेप हनुमान जी की प्रतिमा पर करें। चरणों में एक पानी वाला नारियल, 250 ग्राम उड़द दक्षिणा रखें। वर्ष में 13 मंगलवार या शनिवार सायंकाल इस उपाय को करें ! हनुमान जी की मूर्ति का शरीर से उतारा गया सिंदूर, घर या दुकान पर लाकर प्रवेश द्वार की दीवार पर स्वस्तिक चिन्ह /शुभ लाभम्  बनाएं, कीमती वस्तुओं कार, तिजोरी आदि पर लगाएं।

लाल गाय, ब्राऊन कुत्ते को तंदूरी मीठी रोटियां मंगलवार को खिलाएं।

मंगल ग्रह की तांबे की मूर्ति या मंगल यन्त्र अपने पूजा गृह में प्रतिष्ठित करें।

PunjabKesari

पैतृक संपत्ति में आ रही अड़चनों के लिए, कमलगट्टे की माला प्राण प्रतिष्ठा करवा कर लाल वस्त्र में बांध कर तिजोरी में रखें। 

संबंध सुधारने के लिए मंगलवार को अपनी बहन/ बुआ को लाल कपड़े और लाल डिब्बे में मिठाई दे कर विदा करें।

मंगलवार को किसी से भी विद्युत चालित वस्तु उपहार में न लें।

यदि बार-बार फ्रैक्चर हो या चोट लगे तो महीने के एक मंगलवार को 125 ग्राम सिंदूर साफ जल में प्रवाहित करें या हनुमान जी की मूर्त पर चढ़ाएं।

महीने के एक मंगलवार तांबे की गड़वी में गुड़ या हलवा सायं काल 4 मंगलवार चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं । 

पानी वाले नारियल पर मौली लपेटें, सिंदूर का तिलक लगाएं और 13 मंगलवार जल प्रवाहित करें ।

जिन कन्याओं के विवाह में विलंब हो रहा है या मंगलीक हैं, 21 मंगलवार हनुमान जी के मंदिर में हनुमान चालीसा श्रद्धा से अर्पित करें।


Niyati Bhandari

Related News