13 दिसंबर से पहले ही निपटा लें ये काम, वरना अगले साल भी करना पड़ेगा लंबा इंतज़ार

12/3/2019 6:02:48 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
इतना तो सभी जानते हैं कि हिंदू धर्म में प्रत्येक काम को करने से पहले शुभ तिथि, शुभ मुहूर्त आदि का विशेष ध्यान रखा जाता है। वहीं अगर बात किसी भी तरह के मांगलिक कार्य की हो तो अधिक ध्यान रखा जाता है। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि अगर शुभ मुहूर्त आदि के मद्देनज़र कार्यों को अंजाम दिया जाए तो उसका शुभ फल दोगुना हो जाता है। इसके पीछे की एक मान्यता ये भी है कि प्रत्येक मांगलिक कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त इसलिए देखा जाता है, ताकि वह काम बिना किसी अवरोध के सफल हो और उसका पूरा लाभ मिले।
PunjabKesari, शादी, marriage
बता दें हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, शरद ऋतु में एक माह ऐसा होता है, जब किसी भी तरह के मांगलिक कार्य को करने की मनाही होती है। जिसे खरमास कहा जाता है। बताया जा रहा है इस वर्ष खरमास 13 दिसंबर 2019 से शुरू हो रहा है, जो अगले साल अर्थात 2020 में 14 जनवरी तक रहेगा। इस दौरान किसी भी तरह के मांगलिक कार्य नहीं किए जाएंगे। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दौरान शादी, सगाई, मुंडन, गृह प्रवेश और उपनयन संस्कार जैसे कार्य नहीं किए जाते।

मान्यता है इस दौरान इन कार्यों के करने से उनका वांछित फल प्राप्त नहीं होता है। बता दें ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 15 जनवरी 2020 को सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेगा। अर्थात मकर संक्रांति के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होता है और इस दिन से मांगलिक कार्य शुरू हो जाते है अर्थात देवताओं के दिन शुरू हो जाते हैं।
PunjabKesari, Dharam, Kharmas, खरमास, 13 दिसंबर, खरमास माह, Jyotish Vidya, Jyotish Gyan, Astrology In Hindi, ज्योतिषशास्त्र
खरमास के दौरान सूर्य धनु राशि में होता है। धनु राशि में होने के कारण सूर्य की स्थिति कमजोर मानी जाती है। सूर्य की स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण इस दौरान शादी, सगाई जैसे मांगलिक कार्य नहीं किये जाते हैं। माना जाता है कि मांगलिक कार्य करने के लिए सूर्य की स्थित मजबूत होना बहुत ज़रूरी है। अगर खरमास के दौरान मांगलिक कार्य करते हैं तो उसका शुभ फल प्राप्त नहीं होता है।


Jyoti

Related News