Inspirational Story: दूसरों की निंदा करने वाले लोग अवश्य पढ़ें ये कहानी

punjabkesari.in Saturday, Jun 10, 2023 - 08:32 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Inspirational Context: एक विदेशी को अपराधी समझ जब राजा ने फांसी का हुक्म सुनाया तो उसने अपशब्द कहते हुए राजा के विनाश की कामना की। राजा ने अपने मंत्री से, जो कई भाषाओं का जानकार था, पूछा-यह क्या कह रहा है ?

PunjabKesari Inspirational Context

मंत्री ने विदेशी की गालियां सुन ली थीं, किन्तु उसने कहा, ‘‘महाराज ! यह आपको दुआएं देते हुए कह रहा है, आप हजार साल तक जिएं।’’  

राजा यह सुनकर बहुत खुश हुआ, लेकिन एक अन्य मंत्री ने जो पहले मंत्री से ईर्ष्या रखता था, आपत्ति उठाई कि महाराज ! यह आपको दुआ नहीं बल्कि गालियां दे रहा है।

PunjabKesari Inspirational Context

वह दूसरा मंत्री भी कई भाषाओं का ज्ञाता था। उसने पहले मंत्री की निंदा करते हुए कहा, ‘‘यह मंत्री जिन्हें आप अपना विश्वासपात्र समझते हैं, असत्य बोल रहे हैं।’’

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें

PunjabKesari Inspirational Context

राजा ने पहले मंत्री से बात कर सत्यता जाननी चाही। तो वह बोला, ‘‘हां महाराज ! यह सत्य है कि इस अपराधी ने आपको गालियां दीं और मैंने आपसे असत्य कहा।

पहले मंत्री की बात सुनकर राजा ने कहा कि तुमने इसे बचाने की भावना से अपने राजा से झूठ बोला। मानव धर्म को सर्वोपरि मानकर तुमने राजधर्म को पीछे रखा। मैं तुमसे बेहद प्रसन्न हुआ। फिर राजा ने विदेशी की ओर देख कर कहा कि मैं तुम्हें मुक्त करता हूं। निर्दोष होने के कारण ही शायद तुम्हें इतना क्रोध आया कि तुमने राजा को गाली दी।

इसके बाद राजा ने दूसरे मंत्री से कहा कि तुमने सच इसलिए कहा क्योंकि तुम पहले मंत्री से ईर्ष्या रखते हो। ऐसे लोग मेरे राज्य में रहने के योग्य नहीं हैं। तुम इस राज्य से चले जाओ। वास्तव में दूसरों की निंदा करने की आदत से अन्य की हानि होने के साथ-साथ स्वयं का भी नुकसान ही होता है।’’

PunjabKesari kundli

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News