आज है वर्ष का सबसे शुभ मुहूर्त, छप्पर फाड़ लाभ उठाने के लिए करें ये उपाय

10/15/2021 8:14:59 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Happy Vijayadashami: दशहरे के दिन आप कोई भी शुभ कार्य आरम्भ कर सकते हैं। गृह प्रवेश, वाहन या भवन क्रय, नए व्यवसाय का शुभारम्भ, मंगनी, विवाह, एग्रीमैंट आदि। इस दिन खासकर खरीददारी करना शुभ माना जाता है जिसमें सोना, चांदी और वाहन की खरीदी बहुत ही महत्वपूर्ण है। दशहरा का मतलब होता है दसवीं तिथि। यह दिन साल के सबसे पवित्र दिनों में से एक माना जाता है। यह साल के सबसे शुभ साढ़े 3 मुहूर्त में से एक है (चैत्र शुक्ल प्रतिपदा, अश्विन शुक्ल दशमी, वैशाख शुक्ल तृतीया एवं कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा -आधा मुहूर्त)। यह अवधि किसी भी चीज की शुरूआत करने के लिए उत्तम है। हालांकि, कुछ निश्चित मुहूर्त किसी विशेष पूजा के लिए भी हो सकते हैं।

PunjabKesari ​​​​Happy Vijayadashami

दशहरे के दिन कोई भी नया काम शुरू किया जाता है तो उसमें अवश्य ही विजय मिलती है। इस दिन नकारात्मक शक्तियां खत्म होकर आसमान में नई ऊर्जा भर जाती है।

दशहरे पर पूरे दिन भर मुहूर्त होते हैं इसलिए सारे बड़े काम आसानी से सम्पन्न किए जा सकते हैं।

यह एक ऐसा मुहूर्त वाला दिन है जिस दिन बिना मुहूर्त देखे आप किसी भी नए काम की शुरूआत कर सकते हैं।

PunjabKesari ​​​​Happy Vijayadashami

दशहरे पर होने वाली पूजाएं
अपराजिता पूजा को विजय दशमी का महत्वपूर्ण भाग माना जाता है। हालांकि, इस दिन अन्य पूजाओं का भी प्रावधान है।

इस समय कोई भी पूजा या कार्य करने से अच्छा परिणाम प्राप्त होता है। कहते हैं कि भगवान श्रीराम ने दुष्ट रावण को हराने के लिए युद्ध का प्रारंभ इसी मुहूर्त में किया था। इसी समय शमी नामक पेड़ ने अर्जुन के गाण्डीव नामक धनुष का रूप लिया था। क्षत्रिय, योद्धा एवं सैनिक इस दिन अपने शस्त्रों की पूजा करते हैं।

यह पूजा आयुध/शस्त्र पूजा के रूप में भी जानी जाती है। वे इस दिन शमी पूजन भी करते हैं। पुरातन काल में राजशाही के लिए क्षत्रियों के लिए यह पूजा मुख्य मानी जाती थी।

ब्राह्मण इस दिन मां सरस्वती की पूजा करते हैं।

इस दिन बहीखातों की आराधना भी होती है।

कई जगहों पर होने वाली नवरात्रि रामलीला का समापन भी आज के दिन होता है।

रावण, कुम्भकर्ण और मेघनाथ का पुतला जला कर भगवान राम की जीत का जश्न मनाया जाता है।

इस दिन मां भगवती जगदम्बा का अपराजिता स्रोत करना बड़ा ही पवित्र माना जाता है।  

PunjabKesari ​​​​Happy Vijayadashami

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News