Dussehra 2020: आज के दिन करें ये खास उपाय, जीवन की विपत्तियों का होगा नाश

2020-10-25T15:25:22.567

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में किसी न किसी प्रकार का कोई कष्ट आता है। बल्कि कहा जाता है किसी भी मनुष्य के जीवन में न तो केवल अच्छा समय ही रहता है न ही बुरा रहता है। जीवन के इन दो पहलुओं से लगभग हर कोई गुज़रता है। परंतु दिक्कत कभी कभी केवल तब होती है जब जीवन में बुरा वक्त आता है। इसका सामना करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है। जी हां, बहुत से लोग इस दौरान हिम्मत हार कर बैठ जाते हैं, क्योंकि उन्हें ऐसा प्रतीत होता है कि अब उनके पास कोई विकल्प नहीं बचा। लेकिन आपको बता दें तब भी ऐसा एक विकल्प बचता है जो होता है उपाय। ज्योतिष के साथ-साथ वास्तु शास्त्र में भी मानव जीवन में आने वाली तमाम समस्याएं के उपाय वर्णित हैं। और इन उपायों की सबसे खास बात तो ये है कि जब सनातन धर्म से जुड़ा कोई पर्व या त्यौहार आता है तो इनकी मान्यता और अधिक बढ़ जाती है, और इन्हें करने वाला व्यक्ति के लिए ये बहुत ही असरदार हो जाताे है। जी हां, आप सही समझ रहे हैं चूंकि आज दशहरा है, इसलिए हम आपको आज एक ऐसा उपायों बताने वाले हैं जिससे आपके जीवन के तमाम संकट अपने आप दूर हो जाएंगे। इतना ही नहीं बल्कि इस खास उपाय को करने से जीवन में आने वाले तमाम वास्तु दोष भी दूर हो जाते हैं। 
PunjabKesari, Dussehra 2020, Dussehra, Dussehra Special upay, Dussehra Remedy, Vijayadashami, Vijayadashami 2020, Vijayadashami Remedy, Jyotish Gyan, Jyotish Shastra, Astrology, Vastu Upay, Vastu Shastra in hindi, Vastu Dosh
 आइए जानते हैं क्या है वो खास उपाय- 
आज के दिन जिस, दशहरा व विजयादशमी के नाम से जाना जाता है, को सायंकाल अशोक वृक्ष की पंचोपचार पूजा-अर्चना करें तथा इसकी जड़ों में जल का सिंचन करें। साथ ही साथ उसके पास गौघृत के दीप का प्रज्ज्वलन करके इस पर पीले चावल अर्पण करें। इसके उपरांत निमंत्रण देकर घर वापिस लौट आएं। 

शाम को अशोक वृक्ष की पंचोपचार पूजा-अर्चना करें, इस पर जल अर्पित करें। उपरोक्त विधि को दोहारते हुए अशोक वृक्ष से केवल 1 पत्ता तोड़कर अपने सिर पर धारण कर उस पत्ते के साथ अपने घर वापिस घर लौट आएं। 
PunjabKesari, अशोक के पत्ते, Ashok Leaf
घर आने के बाद फिर से इस पत्ते की पंचोपचार पूजा-अर्चना करें। और धन से जुड़ी संबंधी परेशानियां से राहत पाने के लिए उसे इस पत्ते को अपनी तिजोरी या पूजा घर में ऐसे स्थान पर रखें, जहां बाहरी लोगों की नज़र न पड़े। 

मान्यता है कि इस उपाय को करने के बाद जीवन में लाभ प्राप्त होने लगता है। मगर ध्यान रखें कि अगले दशहरे पर इस पत्ते को बहते हुए जल में बहा दें। 
PunjabKesari, अशोक के पत्ते, Ashok Leaf


Jyoti

Related News