See More

Coronavirus: रेस्टोरेंट या होटल में भोजन करना कितना Safe

2020-07-09T12:39:53.56

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Coronavirus: आज हर तरफ नॉवेल कोरोना वायरस की ही बातें हो रही हैं। इस खतरनाक वायरस से कैसा बचा जाए, यही चर्चाएं चल रही हैं। जब ये वायरस इतनी तेजी से फैल रहा है तो ऐसे में रेस्टोरेंट या होटल में भोजन करना कितना सुरक्षित है ? वैसे इसका संक्रमण हवा के जरिए नहीं बल्कि सरफेस के माध्यम से फैल रहा है। जब आप भोजन के लिए बाहर जाएंगे तो हाइजीन की कमी या लापरवाही से संक्रमित व्यक्ति आपके कांटेक्ट में आ सकता है। होटल के फर्नीचर, दरवाजे या बर्तनों पर संक्रमण हो सकता है। जो आपको अपनी लपेट में ले सकता है। यदि बाहर भोजन करना मजबूरी हो तो हाई क्वालिटी और हाइजीन का खास ध्यान रखें। 

PunjabKesari Coronavirus how safe to eat in a restaurant or hotel

कोरोना वायरस से बचने के लिए विद्वानों द्वारा बताई गई इन दो बातों का ध्यान रखें पहले टी.वी. देखते हुए भोजन न करें। दो, अखबार पढ़ते हुए चाय न पिएं। आज के जीवन में ये दो जबरदस्त बुराइयां हैं। आप इन्हें अविलम्ब सुधार लें क्योंकि जब आप टी.वी. देखते हुए खाना खाते हैं और अखबार पढ़ते हुए चाय पीते हैं, तो आप सिर्फ खाना और चाय नहीं खाते-पीते, बल्कि उस टी.वी. और अखबार में जो हिंसा, अशीलता और भ्रष्टाचार की खबरें होती हैं, उन्हें भी खा-पी जाते हैं। फिर वे खबरें आपको अपने से बे-खबर कर देती हैं। अगर आम आदमी अपनी ये दो आदतें सुधार ले तो पूरे समाज और देश की आबो-हवा बदल सकती है।

PunjabKesari Coronavirus how safe to eat in a restaurant or hotel

सनातन मान्यताओं के अनुसार भोजन में सात्विकता को सबसे अनिवार्य अंग कहा गया है। भोजन शुद्धता के साथ बना होना चाहिए। उसमें निर्मल जल और ताजी हवा का समावेश भी होना चाहिए। अगर ये तीनों भोजन में उपस्थित हों तो इम्यूनिटी स्ट्रांग होती है और व्यक्ति लंबी आयु भोगता है।

PunjabKesari Coronavirus how safe to eat in a restaurant or hotel

शास्त्र कहते हैं भोजन खाने से पहले अपने दोनों हाथ, दोनों पैर और मुंह को अच्छी तरह साफ-स्वच्छ करें। भोजन की थाली को प्रणाम करें और मन ही मन भगवान का धन्यवाद करें।

PunjabKesari Coronavirus how safe to eat in a restaurant or hotel

वास्तु के अनुसार पूर्व और उत्तर दिशा की ओर मुंह करके प्रसन्न तन और मन से भोजन करें। वैसे तो मौन रह कर ही खाना खाएं संभव न हो बोलना जरुरी हो तो केवल सकारात्मक बातें ही करें। जो माहौल को खुशनुमा रखने में मदद करें। स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। परिवार के सदस्यों में जितना भी प्यर हो, एक-दूसरे का जूठा भोजन न खाएं। इससे न केवल स्वास्थ्य प्रभावित होता है बल्कि भाग्य भी प्रभावित होता है।

PunjabKesari Coronavirus how safe to eat in a restaurant or hotel


 


Niyati Bhandari

Related News