April 2024 Horoscope: मीन राशि के लिए अप्रैल महीने का मासिक राशिफल

punjabkesari.in Thursday, Apr 04, 2024 - 11:12 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

April 2024 Horoscope : आज बात करेंगे मीन राशि के जातकों के लिए अप्रैल का महीना कैसा रहेगा ? सूर्य, शुक्र, राहु केंद्र में हैं। शुक्र यहां पर उच्च के हो गए हैं, यह अच्छे होते हैं। गुरु और बुध का दूसरे भाव में गोचर अच्छा है। शुक्र, बुध और गुरु तीनों ही पॉजिटिव पॉइंट और तीनों ही अच्छे गोचर में हैं। केतु, सूर्य और राहु का यहां पर गोचर अच्छा नहीं है। चंद्रमा का गोचर यहां पर अच्छा है। 12वें भाव में मंगल और शनि का गोचर यहां पर अच्छा नहीं है। यहां पर एक चेंज होगा। सूर्य 13 अप्रैल को आगे चले जाएंगे। यहां पर यह वाणी वाले भाव में आ जाएंगे। इसके बाद मंगल जो है, वो यहां पर आ जाएंगे। यहां पर आपके लगन में मंगल और राहु की युति बन जाएगी। 24 अप्रैल को शुक्र आगे चले जाएंगे।

Position of Karma and Income Place in the month of April अप्रैल महीने में कर्म और आय स्थान की स्थिति: इस भाव के स्वामी गुरु बनते हैं। गुरु आय के कारक भी हैं। आय भाव के स्वामी आपकी कुंडली में हालांकि शनि हैं लेकिन 11वें भाव के कारक गुरु होते हैं। गुरु का यहां पर धन स्थान पर बैठना, मित्र सूर्य की राशि में बैठना। आपके कर्म के लिए अच्छा है। जहां पर भी आप काम करते हैं। वहां पर आपका प्रभाव बढ़ना चाहिए। जहां पर भी आपने कोई बिजनेस शुरू किया है। वहां पर आपको वृद्धि नजर आनी चाहिए क्योंकि गुरु ने आपका अर्थ ट्रायंगल एक्टिवेट किया है। इस को हम अर्थ ट्रायंगल बोलते हैं। दसवां, छठा और दूसरा भाव कुंडली का अर्थ ट्रायंगल होता है। यह गुरु के द्वार एक्टिव है। यहां पर आपको काम औप पैसे के मामले में कोई दिक्कत नहीं आएगी। आपके स्वभाव और रिलेशन में कुछ दिक्कत आ सकती है।

यहां पर 23 को मंगल आएंगे लेकिन इससे पहले यहां पर सूर्य और शुक्र रहेंगे। मंगल यहां पर रहेंगे। मंगल की अष्टम दृष्टि आपके सप्तम भाव के ऊपर रहेगी। केतु पहले से यहां पर मौजूद हैं। राहु और सूर्य की दृष्टि भी पहले से यहां पर बनी हुई है। सातवां भाव है आपकी कुंडली का जो रिलेशनशिप का भाव है। उसको सूर्य, राहु, मंगल और केतु देख रहे हैं। इस भाव को डिफेंड करने के लिए कोई भाव नहीं है। पहले वहां पर शुक्र तो रहेंगे लेकिन इन ग्रहों के बीच खुद पिस जाएंगे। यहां पर शुक्र की डिफेंसिव फोर्स काम कम करेगी। इन चार पाप ग्रहों की एग्रेसिव फोर्स ज्यादा काम करेगी। यहां पर मामला शांति के साथ ही सुलझेगा। यह स्थिति 9 या 10 अप्रैल के आसपास होगी क्योंकि उस समय यहां पर प्लेनेटरी वार होगी। शनि और मंगल एक ही डिग्री पर आ जाएंगे। जब यहां पर प्लेनेटरी वार होगी, तो यह भाव आपके चंद्रमा से 12वां भाव है। चंद्रमा पाप प्रभाव में रहेगा। जब यहां पर प्लेनेटरी वार होगी, तो उस समय आप गुस्से में रहेंगे। इसलिए अपने टेंपरामेंट को बैलेंस रखने की कोशिश करें। आगे भी मंगल आ जाएंगे। मंगल और राहु का यहां पर सीधा प्रभाव आ जाएगा। यह भाव आपकी कुटुंब का भाव होता है। यह वाणी का भाव होता है। यहां पर शुभ ग्रहों का प्रभाव होने का कारण आप अपनी वाणी पर कंट्रोल कर पाएंगे।

Relationship status in the month of April अप्रैल महीने में रिलेशन की स्थिति: जो लोग रिलेशन में हैं। मंगल और शनि की दृष्टि नहीं है। बुध और शुक्र नहीं देखते। राहु वहां पर देख रहे हैं तो राहु जब पंचम को देख रहे हैं, तो पंचम निछल प्रेम का भाव है। यहां पर राहु क्या करते हैं। चंद्राम के ऊपर तो  नेगेटिव प्रभाव है, तो नेगेटिव विचार ज्यादा आएंगे। इसलिए यहां पर आपको थोड़ा सा संभलना पडे़गा।

Health status in the month of April अप्रैल महीने में सेहत की स्थिति: श्रेष्ठ छठे भाव के स्वामी सूर्य, राहु, केतु एक्सिस में चल जाएंगे। यहां पर स्थिति अच्छी नहीं रहेगी। छठे भाव के ऊपर मंगल शनि की दृष्टि बनी रहेगी। जिनको पेट से संबंधित कोई दिक्कत है उनको अपनी सेहत का खास ध्यान रखने की जरूरत है क्योंकि यहां पर मंगल इस भाव को देख रहे हैं और शनि इस भाव को देख रहे हैं। मंगल की दृष्टि यहां पर भी है। यूरिनल इशू और पाइल्स भी हो सकती है।    पेट से संबंधित कोई न कोई नई दिक्कत पैदा हो सकती है। यहां पर ध्यान रखना पडे़गा। यहां पर कोई पाप ग्रह नहीं देखता। यह लंबी बीमारी का भाव होता है। यह अष्टम भाव है, यह दुर्घटना का भाव है। यहां पर बुध, गुरु दोनों देख रहे हैं। यहां पर कोई दिक्कत नहीं है। छठा भाव आपका ज्यादा पीड़ित रहेगा। हालांकि छठे भाव के ऊपर गुरु की दृष्टि रहेगी। चूंकि पाप प्रभाव ज्यादा है। भाव का स्वामी और हेल्थ का कारक ग्रह वो खुद राहु, केतु एक्सेस में हैं इसलिए थोड़ा ज्यादा ध्यान रखना पड़ेगा।  

Status of education in the month of April अप्रैल महीने में शिक्षा की स्थिति: छात्रों के लिए समय थोड़ा मिलाजुला रहेगा क्योंकि पाप ग्रहों के प्रभाव में मन प्रभावित रहेगा। आपको फोकस बनाने में थोड़ा मुश्किल हो सकती है।

उपाय- अपना फोकस बनाने के लिए  मेडिटेशन करें, थोड़े हल्के रंग के कपड़े पहने, माथे पर चंदन का तिलक लगाएं। इससे आपका मन शांत रहेगा। साथ ही इससे फोकस बनाने में बहुत मदद मिलेगी।      


नरेश कुमार
https://www.facebook.com/Astro-Naresh-115058279895728


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Prachi Sharma

Related News