Apara Ekadashi: जिस घर में होता है ये काम, वहां लक्ष्मी संग विराजते हैं श्री हरि

punjabkesari.in Thursday, May 26, 2022 - 09:06 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
Apara Ekadashi 2022: ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि का व्रत करने का विशेष महत्व है। इसे अपरा एकादशी के रूप में मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस एकादशी का व्रत करने से भगवान विष्णु व माता लक्ष्मी दोनों की कृपा प्राप्त होती है। व्यक्ति धनवान और ऐश्वर्यवान बनता है साथ ही एकादशी का व्रत करने वाले के समस्त पापों का नाश होता है। एकादशी तिथि 25 मई 2022, को सुबह 10 बजकर 32 मिनट से शुरू होगी और 26 मई 2022 को सुबह 10 बजकर 54 मिनट पर समाप्त होगी। इस बार एकादशी का व्रत गुरुवार के दिन प्रारंभ होगा और इसका समापन शुक्रवार के दिन होगा। इस हिसाब से इस बार एकादशी का व्रत करने पर भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी दोनों की कृपा प्राप्त होगी। इस प्रकार से साधक कुछ नियमों का पालन करके अपने लिए धन-संपदा के दरवाजे खोल सकता है।

PunjabKesari, Apara ekadashi Vrat, Apara ekadashi upay

एकादशी व्रत का प्रारंभ करने से पहले नहा धोकर स्वच्छ होकर सर्वप्रथम अपने घर की कुल देवी देवता या इष्ट का ध्यान अवश्य करें। इसके पश्चात मां लक्ष्मी और विष्णु की एक साथ पूजा करें। पीले अथवा गुलाबी रंग के वस्त्रों को धारण करके मां लक्ष्मी के इस मंत्र का उच्चारण करें। 

मंत्र- ओम श्रीम हरीम श्रीम कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद।।

इस मंत्र का उच्चारण कमलगट्टे की माला या रोज क्वार्ट्ज की माला पर करने से विशेष लाभ मिलता है।

PunjabKesari, Apara ekadashi Vrat, Apara ekadashi upay

आज के दिन गौ सेवा करने से अथवा गौ माता को घर का भोजन भोग लगाने से समस्त दुखों का नाश होता है और धन-वैभव प्राप्त होता है। 

अपरा एकादशी के दिन मीठे पानी का दान करने से एवं मीठे फलों का दान करने से से दुख व दरिद्रता दूर होती है। 

एकादशी के दिन किसी ब्राह्मण को गुलाबी रंग के कपड़े व पुष्पों की माला पहनाकर उनका सम्मान करें। आपके घर अन्न और धन के भंडार भरे रहेंगे। लक्ष्मी संग श्री हरि आपके घर विराजेंगे।

नीलम
8847472411 

PunjabKesari, Apara ekadashi Vrat, Apara ekadashi upay


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News