टाटा मोटर्स ने कुल उत्पादन के लिहाज से 40 लाख का आंकड़ा पार किया

2020-10-24T18:21:30.623

नई दिल्लीः प्रमुख ऑटो कंपनी टाटा मोटर्स ने शनिवार को कहा कि उसकी यात्री वाहन शाखा ने कुल उत्पादन के लिहाज से 40 लाख के आंकड़े को पार किया है। कंपनी ने करीब तीन दशक पहले 1991 में इस खंड में अपना पहला मॉडल टाटा सिएरा एसयूवी पेश किया था। टाटा मोटर्स ने इस दौरान इंडिका, सिएरा, सूमो, सफारी और नैनो जैसे मॉडल पेश किए और इससे पहले यात्री वाहनों के उत्पादन के लिहाज से 2005-06 में 10 लाख और 2015 में 30 लाख के आंकड़े को पार किया था। 

टाटा मोटर्स के अध्यक्ष (यात्री वाहन कारोबार इकाई) शैलेश चंद्र ने बताया, ‘‘टाटा मोटर्स के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। उद्योग में बहुत कम कंपनियां इस मुकाम को हासिल कर सकी हैं। 1991 में टाटा सिएरा को पेश करने के बाद यह एक लंबा सफर रहा है।'' उन्होंने कहा कि कंपनी अपने वाहनों के सुरक्षा पहलुओं पर खासतौर से ध्यान केंद्रित करने के साथ ही देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रही है। उन्हें उम्मीद है कि कंपनी की कारों को अब बाजार में पहले से ज्यादा पसंद किया जा रहा और इससे अगली दस लाख बिक्री का आंकड़ा अपेक्षाकृत कम समय में हासिल होगा। टाटा मोटर के कारखाने पुणे में चिखली और गुजरात में साणंद में है। इसका फीएट के साझे में एक कारखाना पुणे में ही रंजनगांव में है। 


jyoti choudhary

Recommended News