आर्थिक मोर्चे पर बड़ा झटकाः मूडीज ने भारतीय अर्थव्यवस्था की रेटिंग घटाई, आउटलुक को किया नेगेटिव

11/8/2019 9:52:53 AM

नई दिल्लीः क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कम आर्थिक वृद्धि का हवाला देते हुए भारत की रेटिंग पर अपना नजरिया बदल दिया है। भारत की सुस्त अर्थव्यवस्था को लेकर एक बड़ा अनुमान व्यक्त करते हुए मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत की रेटिंग को 'स्थिर' से 'नकारात्मक' कर दिया है।
PunjabKesari
धीमी अर्थव्यवस्था का जोखिम बढ़ा
BAA2 रेटिंग की पुष्टि करते हुए मूडीज ने यह कहते हुए अपना नजरिया बदला है कि धीमी अर्थव्यवस्था को लेकर जोखिम बढ़ रहा है। आर्थिक विकास अतीत की तुलना में भौतिक रूप से कम रहेगा। आर्थिक मंदी को लेकर चिंताएं लंबे समय तक रहेंगी और कर्ज बढ़ेगा। मूडीज ने भारत के लिए Baa2 विदेशी मुद्रा और स्थानीय-मुद्रा दीर्घकालिक जारीकर्ता रेटिंग की पुष्टि की।
PunjabKesari
पिछले महीने घटाया था ग्रोथ रेट
गौरतलब है कि केंद्र की मोदी सरकार साल 2025 तक 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था के लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए जीडीपी ग्रोथ बढ़ाने पर जोर दे रही है। वहीं दुनिया भर की रेटिंग एजेंसियां भारत के जीडीपी ग्रोथ अनुमान को घटा रही हैं। पिछले माह मूडीज ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ग्रोथ रेट अनुमान घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है, पहले इसका जीडीपी ग्रोथ अनुमान 6.2 फीसदी था। वहीं मूडीज ने वित्त वर्ष 2020-21 में ग्रोथ रेट बढ़कर 6.6 फीसदी रहने का अनुमान जताया है। मूडीज को उम्‍मीद है कि यह आंकड़ा आने वाले सालों में बढ़कर 7 फीसदी तक पहुंच जाएगा।
PunjabKesari
 


Supreet Kaur

Related News