‘लग्जरी आवास की बिक्री में वृद्धि’

2021-04-12T13:42:20.087

नई दिल्ली: रियल एस्टेट डाटा एनालिटिक्स फर्म की एक रिपोर्ट के अनुसार कोविड-19 महामारी के कारण खुले और बड़े स्थानों की अधिक मांग के कारण भारतीय बाजारों में फरवरी में 21 प्रतिशत बढ़कर 6,786 इकाइयों से 8219 हो गई। दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र इस प्रवृत्ति के सबसे बड़े लाभार्थी के रूप में उभरा, क्योंकि इसने लग्जरी आवास की बिक्री में 54 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। मुम्बई महानगर 37 प्रतिशत वृद्धि के साथ दूसरे, इसके बाद बेंगलुरु (13 प्रतिशत), पुणे (12 प्रतिशत), चेन्नई (8 प्रतिशत) और कोलकाता (7 प्रतिशत) हैं।

भारत सोथबी इंटरनैशनल रियल्टी के सी.ई.ओ. अमित गोयल ने बताया कि हाऊसिंग मार्कीट पिछली कुछ तिमाहियों से सुधर रही है और हमारा डाटा बताता है कि 2021 में हाऊसिंग सेल में विकास देखने को मिलेगा। महामारी ने लग्जरी होमबॉयर्स की प्राथमिकताओं को बदल दिया है। निजी आऊटडोर स्पेस या पास के पार्क और दूरदराज के काम और शिक्षा के लिए अतिरिक्त वर्ग सबसे महत्वपूर्ण मानदंड बन गए हैं और यह प्रवृत्ति 2021 में अच्छी तरह से जारी रहेगी। 

आंकड़ों से यह भी पता चला है कि शीर्ष 7 बाजारों में एक साथ बिक्री के लिए 92,200 से अधिक लग्जरी घर उपलब्ध हैं, जिनमें से मुम्बई की लगभग 52 प्रतिशत हिस्सेदारी और बेंगलुरु और पुणे की आई.टी. हब में क्रमश: 9 प्रतिशत और 5 प्रतिशत की हिस्सेदारी है।


Content Writer

jyoti choudhary

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static