शेयर बाजार में भारी गिरावट, निवेशकों के डूबे 4.58 लाख करोड़ रुपए

2020-09-21T18:00:47.617

बिजनेस डेस्कः कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों और वैश्विक स्तर पर बिकवाली के बीच सोमवार को घरेलू शेयर बाजारों में भारी गिरावट आई। 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 811.68 अंक यानी 2.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,034.14 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 254.40 अंक यानी 2.21 प्रतिशत का गोता लगाकर 11,250.55 अंक पर बंद हुआ। बाजार में आई इस भारी गिरावट से निवेशकों को 4.58 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।

नकारात्मक वैश्विक संकेत
जियोजित फाइनेंशियल में शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, 'कारोबार के दूसरे हाफ में भारतीय बेंचमार्क सूचकांक मुनाफावसूली का शिकार हो गए। यह वैश्विक संकेतों के अनुकूल था जो यूरोप सहित कई देशों में कोरोना के मामले बढ़ने से निगेटिव हो गए। यूरोप में मामले बढ़ने से अतिरिक्त पाबंदियां लगाए जाने पर विचार चल रहा है।'

सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान इंडसइंड बैंक को हुआ। इसमें 8 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई। इसके अलावा जिन अन्य प्रमुख शेयरों में गिरावट आई, उनमें भारती एयरटेल, टाटा स्टील, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति, एक्सिस बैंक और ओएनजीसी शामिल हैं। दूसरी तरफ कोटक बैंक, इन्फोसिस और टीसीएस लाभ में रहने वाले शेयरों में शामिल हैं। कारोबारियों के अनुसार यूरोप में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता के बीच दुनिया के प्रमुख शेयर बाजारों में अचानक से हुई बिकवाली का असर घरेलू शेयर बाजारों पर पड़ा।

वैश्विक बाजारों का हाल
वैश्विक स्तर पर एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई, हांगकांग और दक्षिण कोरिया के सोल में उल्लेखनीय गिरावट रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में भारी बिकवाली रही और तीन प्रतिशत तक गिरावट आई। इस बीच, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड 2.04 प्रतिशत गिरकर 42.27 डॉलर प्रति बैरल पर करोबार कर रहा था। इधर, विदेशी विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 7 पैसे मजबूत होकर 73.38 पर बंद हुआ।


jyoti choudhary

Related News