See More

अप्रैल-मई में रत्न, आभूषण निर्यात 82.31 प्रतिशत घटकर 4,328.54 करोड़ रुपये पर

2020-06-17T10:38:13.973

मुंबईः देश का रत्न एवं आभूषण निर्यात चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-मई माह के दौरान 82.31 प्रतिशत घटकर 4,328.54 करोड़ रुपए पर आ गया। रत्न एवं आभूषण निर्यात संवर्द्धन परिषद (जीजेईपीसी) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। कोविड-19 महामारी फैलने की वजह से दुनियाभर में लॉकडाउन के चलते रत्न एवं आभूषण निर्यात में भारी गिरावट आई है। अप्रैल-मई, 2019 के दौरान रत्न एवं आभूषणों का निर्यात 24,468.11 करोड़ रुपए रहा था। 

जीजेईपीसी के वाइस चेयरमैन कोलिन शाह ने कहा, ‘‘वैश्विक स्तर पर लॉकडाउन की वजह से निर्यात प्रभावित हुआ है। अब चीन, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में मांग कुछ सुधर रही है।'' शाह ने कहा कि खाड़ी के ज्यादातर देशों और अमेरिका में अभी इस महामारी का प्रभाव कायम है। उद्योग की स्थिति धीरे-धीरे सुधर रही है, लेकिन निश्चित रूप से हम सभी सुरक्षा नियमों का अनुपालन कर रहे हैं। इस बीच, आंकड़ों के अनुसार कट और पालिश किए गए हीरों का निर्यात अप्रैल-मई में 77.42 प्रतिशत घटकर 2,943.18 करोड़ रुपए पर आ गया, जो इससे पिछले साल के समान महीनों में 13,033.41 करोड़ रुपये रहा था। 

इसी तरह सोने के आभूषणों का निर्यात 92 प्रतिशत की भारी गिरावट के साथ 7,927.47 करोड़ रुपए से 634.38 करोड़ रुपए पर आ गया। रंगीन रत्नों का निर्यात 92.90 प्रतिशत घटकर 28.98 करोड़ रुपए रह गया, जो इससे पिछले साल की समान अवधि में 408.45 करोड़ रुपए था। हालांकि, इस दौरान चांदी के आभूषणों का निर्यात 5.46 प्रतिशत बढ़कर 647.74 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो अप्रैल-मई, 2019 में 614.21 करोड़ रुपए रहा था।  
 


jyoti choudhary

Related News