See More

सिर्फ TikTok बंद होने से चीन को लगेगी 100 करोड़ की चपत, 59 बैन होने से होगा हजारों करोड़ का नुकसान

2020-06-30T11:10:37.247

बिजनेस डेस्कः केंद्र सरकार ने सोमवार को बड़ा कदम उठाते हुए 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया है। ऐसे में जानकारों का मानना है कि इससे चीनी ऐप्स को संचालित करने वाली कंपनियों और खुद चीन को भी बड़ा आर्थिक नुकसान होगा। अकेले टिकटॉक के बैन होने से ही कंपनी को 100 करोड़ रुपए की चपत लगने वाली है। 

10 में 5 सर्वाधिक चीनी ऐप्स होते हैं डाउनलोड
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत में केवल मार्च से मई 2020 के बीच 10 में से 5 सर्वाधिक डाउनलोड होने वाले मोबाइल ऐप्स चीनी कंपनियों के हैं। इनमें टिकटॉक, जूम, Helo, Uvideo और यूसी ब्राउजर शामिल हैं। हालांकि बैन होने वाले ऐप्स में जूम को शामिल नहीं किया गया है।

PunjabKesari

साइबर एक्सपर्ट और सुप्रीम कोर्ट में वकील पवन दुग्गल ने बात करते हुए बताया कि इससे चीन को सबसे ज्यादा नुकसान होगा। सरकार को ये कदम पहले उठा लेना चाहिए था। हालांकि इस कदम के अमल में आने में कम से कम 12-16 घंटे लगेंगे।

Top 5 Non-Chinese Alternatives to UC Browser - Gadgets To Use

दुग्गल के मुताबिक चीनी ऐप्स से भारतीयों का व्यक्तिगत और वित्तीय डाटा चीन की सरकार के पास सीधे पहुंच रहा था। ऐसे में इन ऐप्स के बंद हो जाने से अब चीन की सरकार के पास भारतीयों का कोई डाटा नहीं पहुंचेगा। वहीं इन सभी कंपनियों के सर्वर भी चीन में मौजूद हैं। ऐसे में इस वक्त इन ऐप्स से लोगों की निजी जानकारी और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बहुत ज्यादा खतरा हो गया था।

Chinese App Ban in India: Ban on 59 Apps of China including Tiktok ...

चीनी कंपनियों द्वारा निवेश पर लग सकता है बैन
दुग्गल ने बताया कि सरकार को जल्द ही भारतीय स्टार्टअप कंपनियों में चीनी कंपनियों द्वारा किए गए निवेश पर भी रोक लगाने की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। पिछले पांच सालों में चीनी कंपनियों द्वारा इन स्टार्टअप्स में करीब 8 बिलियन डॉलर का निवेश किया गया है। 


jyoti choudhary

Related News