बैड बैंक का प्रमुख प्रायोजक बनेगा केंनरा बैंक, 12% हिस्सेदारी लेगा

2021-06-16T13:47:58.603

नई दिल्लीः सार्वजनिक क्षेत्र का केनरा बैंक राष्ट्रीय संपत्ति पुनर्गठन कंपनी लि. (एनएआरसीएल) या बैड बैंक का मुख्य प्रायोजक होगा। बैड बैंक में केनरा बैंक 12 प्रतिशत हिस्सेदारी लेगा। बैड बैंक से तात्पर्य ऐसे वित्तीय संस्थान से है जो बैंकों के डूबे कर्ज को अपन खाते में लेकर उनका समाधान करता है। इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) ने 13 मई, 2021 को पत्र लिखकर केनरा बैंक से एनएआरसीएल में प्रायोजक के रूप में भाग लेने का आग्रह किया था। केनरा बैंक के निदेशक मंडल ने एनएआरसीएल में हिस्सेदारी लेने के लिए सैद्धान्तिक मंजूरी दे दी है। केनरा बैंक ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में यह जानकारी दी है। 

केनरा बैंक ने कहा कि बोर्ड की मंजूरी के बाद उसने एनएआरसीएल में प्रायोजक के रूप में भाग लेने के लिए रिजर्व बैंक की अनुमति मांगी है। सार्वजनिक क्षेत्र के विभिन्न बैंकों ने अपने डूब कर्ज या एनपीए का उल्लेखनीय हिस्सा एनएआरसीएल में स्थानांतरित करने की घोषणा की है। उदाहरण के लिए पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने कहा है कि उसने एनएआरसीएल में स्थानांतरण के लिए 8,000 करोड़ रुपए की गैर-निष्पादित आस्तियों की पहचान की है। 

प्रस्तावित एनएआरसीएल में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का 51 प्रतिशत और शेष निजी क्षेत्र के बैंकों का हिस्सा होगा। बैंकों ने शुरुआती चरण में 89,000 करोड़ रुपए के 22 डूबे कर्ज की पहचान की है जिन्हें एनएआरसीएल में स्थानांतरित किया जा सकता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2021-22 पेश करते हुए घोषणा की थी कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों द्वारा अपनी दबाव वाली परिसंपत्तियों के लिए काफी ऊंचे प्रावधान की वजह से बैंकों के बही-खातों को साथ-सुथरा करने की जरूरत है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

jyoti choudhary

Recommended News