देश में लगातार हो रही ‘बैंक और ए.टी.एम.’ लूटने की वारदातें

punjabkesari.in Tuesday, Jan 21, 2020 - 12:55 AM (IST)

 सरकार के लाख दावों के बावजूद भारत में अपराध कम नहीं हो रहे। एक ओर जहां बलात्कार, हत्या, चोरी-डकैती आदि जोरों पर हैं तो दूसरी ओर बैंकों और ए.टी.एम. को लगातार लूटा जा रहा है : 18 दिसम्बर, 2019 को राजस्थान के भादरा में 6 सशस्त्र लुटेरों ने आई.सी.आई.सी.आई. बैंक की शाखा से 33 लाख 76 हजार रुपए लूट लिए। 21 दिसम्बर, 2019 को रेवाड़ी के गांव लाधूगुर्जर के निकट बदमाश पी.एन.बी. के बूथ में घुस कर नकदी से भरा ए.टी.एम. उखाड़ कर ले गए। 23 दिसम्बर, 2019 को 4 सशस्त्र लुटेरों ने बिहार में नालंदा जिले के पिलखी गांव में देना बैंक से 4.99 लाख रुपए लूट लिए। 31 दिसम्बर, 2019 को पटना में यूनाइटेड बैंक की शाखा से एक बदमाश अकेले ही रूमाल में लपेटी हुई पिस्तौल या उस जैसी कोई चीज दिखा कर मात्र 4 मिनट में कैशियर से 9.12 लाख रुपए लूट कर फरार हो गया। 

31 दिसम्बर, 2019 को चंद बदमाशों ने उत्तर प्रदेश के बस्ती में दक्षिण दरवाजा स्थित एस.बी.आई. के ए.टी.एम. बूथ में घुस कर सी.सी.टी.वी. पर काला स्प्रे छिड़का और फिर ए.टी.एम. काट कर 27 लाख रुपए लूट लिए। 09 जनवरी, 2020 को जयपुर के हरमाड़ा के राधाकृष्णपुरा गांव में कुछ बदमाश एच.डी.एफ.सी. बैंक के ए.टी.एम. का 9 लाख रुपयों से भरा कैश बॉक्स चुरा कर ले गए। इसी दिन कानोता में बदमाशों ने बैंक ऑफ इंडिया का ए.टी.एम. लूटने की कोशिश भी की। 16 जनवरी, 2020 को तरनतारन के गांव ठठियां महंतां में 5 लुटेरों ने एक्सिस बैंक की शाखा से बंदूक की नोक पर 7.30 लाख रुपए लूट लिए। 18 जनवरी, 2020 को अमृतसर के निकट जंडियाला गुरु के बंडाला स्थित एच.डी.एफ.सी. बैंक में 4 सशस्त्र लुटेरों ने 1.55 लाख रुपए लूट लिए और बैंक में लगे कैमरों की डी.वी.आर. भी ले गए। पिछले एक महीने में ब्यास के नजदीक बैंकों के 3 ए.टी.एम. लूटने की घटनाएं हो चुकी हैं। 

19 जनवरी, 2020 को गुरुग्राम की शीतला कालोनी में छोटू राम चौक स्थित एक्सिस बैंक के ए.टी.एम. कक्ष में लगे सी.सी.टी.वी. कैमरे पर स्प्रे छिड़कने के बाद बदमाश ए.टी.एम. काट कर 69 हजार रुपए चुरा कर ले गए। अनेक बैंक शाखाओं और ए.टी.एम. पर कोई सुरक्षागार्ड न होने तथा सुरक्षा कर्मचारियों की लापरवाही से ये घटनाएं हो रही हैं। अनेक मामलों में अपराधी बैंकों और ए.टी.एम. बूथों में लगाए गए सी.सी.टी.वी. कैमरों के सही ढंग से काम न करने के कारण बच निकलते हैं। कई मामलों में वे कैमरों पर रंग छिड़क कर उन्हें नाकारा कर देने या डी.वी.आर. साथ ले जाने से पकड़ में नहीं आ पाते। अत: बैंक प्रबंधन द्वारा सभी बैंकों और ए.टी.एम. बूथों पर सुरक्षा गार्ड तैनात करके तथा अन्य उपायों से इनकी सुरक्षा अभेद्य बनाने की आवश्यकता है।—विजय कुमार  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Related News

Recommended News