बीच हवा में 70 वर्षीय यात्री के गले में फंसे नकली दांत, मौत

Wednesday, December 6, 2017 12:24 PM
बीच हवा में 70 वर्षीय यात्री के गले में फंसे नकली दांत, मौत

नई दिल्लीः एक 70 वर्षीय यात्री की स्पाइस जेट में सफर के दौरान मौत हो गई। दरअसल बुजुर्ग यात्री अपने परिवार सहित विमान से मुंबई से अमृतसर आ रहा था। इस दौरान उड़ान के आधे रास्ते में यात्री के निचले जबड़े के नकली दांत अचानक उसके गले में फंस गए जिससे उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगी। क्रू मैंबर्स ने उन्हें फ्लाइट में प्राथमिक इलाज दिया लेकिन जब कोई राहत नहीं मिली तो स्पाइट जेट को दिल्ली इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर एमजैंसी लैंड किया गया। यात्री को जल्द ही एयरपोर्ट से अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टर उन्हें बचा नहीं पाए।

मेदांता के मेडिकल अधिकारी डॉ प्रभाजन शकुंत ने बताया कि फ्लाइट में हवा न होने के कारण उनके शरीर में ऑक्सीजन की कमी आ गई जिससे उनको सांस लेने में दिक्कत हुई और उनका पूरा शरीर नीला पड़ गया। घटना 30 नवंबर की है। स्पाइस जेट संख्या नं SG 438 ने मुंबई से अमृतसर के लिए उड़ान भरी थी। फ्लाइट में 176 यात्री सवार थे। मृतक यात्री जालंधर का रहने वाला था और वह अपनी पत्नी और बेटे के साथ फ्लाइट में सवार था।

 "डीसीपी (एयरपोर्ट) संजय भाटिया ने कहा कि बुजुर्ग की हालत को देखते हुए स्पाइट जेट ने मैडिकल के तहत एमजैंसी लैंडिंग की और उन्हें मेदांता अस्पताल ले जाया गया और प्राथमिक उपचार किया गया लेकिन उन्होंने इलाज के दौरान ही दम तोड़ दिया। डॉक्टरों के मुताबिक मृतक मधुमेह से ग्रस्त था और उनके शरीर का आधा हिस्सा पहले से ही पैरालाइज्ड था इसलिए ऐसी हालत में उनकी तबीयत काफी खराब हो गई और उन्हे बचा पाना मुश्किल हो गया। जब यात्री को अस्पताल लाया गया तब तक उनकी जीभ पूरी तरह से नीली पड़ चुकी थी और दिल ने भी काम करन बंद कर दिया था। हालांकि फिर भी हमारी टीम ने पूरी कोशिश की उन्हें बचाने की लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!