विश्व रेडियो दिवस पर मोदी की बधाई, जानिए 13 फरवरी को ही क्यों मनाया जाता है ये दिन

Tuesday, February 13, 2018 2:20 PM
विश्व रेडियो दिवस पर मोदी की बधाई, जानिए 13 फरवरी को ही क्यों मनाया जाता है ये दिन

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व रेडियो दिवस पर रेडियो की दुनिया से जुड़े लोगों को बधाई दी है। मोदी ने अपने संदेश में कहा कि वह रेडियो की दुनिया से जुड़े सभी लोगों को बधाई देते हैं जिनमें रेडियो में काम करने वाले और श्रोता सभी शामिल हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि यह माध्यम हमेशा सीखने, खोजने, मनोरंजन और एक साथ मिलकर बढ़ने का केन्द्र बिन्दू बना रहेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि रेडियो हमें नजदीक लाता है और मैं ‘मन की बात’ कार्यक्रम के माध्यम से इस का अनुभव कर रहा हूं। उन्होंने मन की बात कार्यक्रम का लिंक देते हुए कहा है कि इस पर कार्यक्रम के सभी संस्करण सुने जाते हैं।
 

यहां मनाया गया था सबसे पहले रेडियो दिवस
यूनेस्को ने सबसे पहले विश्व-स्तर पर रेडियो दिवस मनाने की शुरुआत की थी। रेडियो रूस दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे पुरानी रेडियो प्रसारण कम्पनियों में से एक है। रेडियो रूस के प्रसारण दुनिया की 44 भाषाओं में दुनिया के सभी महाद्वीपों के निवासी सुनते हैं।

 

 

13 फरवरी को क्यों मनाया जाता है रेडियो दिवस
विश्व रेडियो दिवस मनाने की शुरूआत हाल ही में की गई है। यूनेस्को ने सन् 2011 में विश्व-स्तर पर रेडियो दिवस मनाने का निर्णय लिया। 13 फरवरी का दिन ‘विश्व रेडियो दिवस’ के रूप में इसलिए चुना गया क्योंकि 13 फ़रवरी सन् 1946 से ही रेडियो यूएनओ यानी संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा अपने रेडियो प्रसारण की शुरुआत की गई थी। रेडियो दुनिया का सबसे सुलभ मीडिया है। दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर रेडियो सुना जा सकता है। पढ़े-लिखे से लेकर अनपढ़ तक सभी रेडियो से जुड़े होते हैं।

 

 

 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन