शास्त्रों से जानें, चरणामृत किस लिए होता है खास और शुभ लाभ

Monday, May 8, 2017 11:32 AM
शास्त्रों से जानें, चरणामृत किस लिए होता है खास और शुभ लाभ

वह जल जिस से किसी पूजनीय देवी-देवता या संत-महात्मा के चरणों को धोया जाता हों उसे चरणामृत कहा जाता है। सनातन धर्म में चरणामृत को बहुत ही पवित्र माना जाता है। श्रद्धालु सिर माथे पर लगाने के बाद ही इसे ग्रहण करते हैं। कुछ श्रद्धालु चरणामृत लेने के पश्चात सिर पर हाथ फेरते हैं, जोकि शास्त्रीय रीति के अनुसार नकारात्मकता का संचार करता है। सनातन धर्म में जब भी कोई श्रद्धालु मंदिर जाता है तो भगवान के दर्शनों के उपरांत मंदिर के पुजारी उसे चरणामृत या पंचामृत देते हैं। श्रद्धालु शांत भाव से भक्ति भावना के साथ दाएं हाथ से उसे ग्रहण करते हैं। 


चरणामृत ग्रहण करने के फायदे: आयुर्वेद के अनुसार चरणामृत स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही फायदेमंद है क्योंकि यह तांबे के बर्तन में रखा जाता है। तांबे के बर्तन में जमा पानी 'तमारा जल' के रूप में भी जाना जाता है। यह जल रूपी चरणामृत आप कहीं खरीद नहीं सकते। यह जल ही है जो चैतन्‍य की स्मृति संजोए होता है। यही है तीर्थ। लोग इसको ग्रहण करना चाहते हैं ताकि यह उन्हें उनके अंतर के चैतन्‍य की याद दिलाए। धार्मिक दृष्टि से ही नहीं वैज्ञानिक दृष्टि से भी चरणामृत का जल सर्वदा तांबे के पात्र में रखा जाता है। आयुर्वेद के अनुसार तांबे के पात्र में बहुत से रोगों को नष्ट करने की क्षमता होती है जो उसमें रखे जल में आ जाती है।


भगवान श्री हरि विष्णु के चमत्कारों और धर्मशील आचरण पर आधारित ग्रंथ नारद पुराण में बताया गया है की भगवान के चरणों का अमृत यानि चरणामृत ग्रहण करने का कितना महत्व है। इस ग्रंथ में महर्षि नारद और ऋषि सनक के मध्य हुई बातचीत का वर्णन है। इसमें बहुत से विषयों पर गहन चर्चा की गई है। उन्हीं में से एक है चरणामृत नारदपुराण के अनुसार-


प्रतिदिन भगवान का चरणामृत ग्रहण करने से शरीर रोगों की चपेट में नहीं आता, असाध्य रोगों से निजात पाया जा सकता है।


जो व्यक्ति नियमित भगवान विष्णु का पूजन कर उनका प्रसाद और चरणामृत ग्रहण करता है वह जीवन में कभी हताश और निराश नहीं होता। जिस व्यक्ति को अपनी मौत का भय सताता हो या बुरे और डरावने सपने आते हों उसे रोजाना चरणामृत पीना चाहिए। ऐसा करने से अंतर्मन में कोई भी डर नहीं रहता और चिरकाल तक व्यक्ति सुखद जीवन यापन करते हुए लम्बी आयु भोगता है। 


प्रतिदिन सारे घर में चरणामृत का छिड़काव करें।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !