अंगारक चतुर्थी कल: घर पर करें महाटोटका, तिजोरी में रखें ये चीज

Monday, November 6, 2017 1:56 PM
अंगारक चतुर्थी कल: घर पर करें महाटोटका, तिजोरी में रखें ये चीज

कल मंगलवार दि॰ 07.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण चतुर्थी पर आंगरक चतुर्थी मनाई जाएगी। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार मंगलवार पर पड़ने वाली चतुर्थी को अंगारक चतुर्थी कहते हैं। शास्त्रनुसार गणेश जी का जन्म चतुर्थी तिथि पर हुआ था। इसी कारण चतुर्थी तिथि गणेशजी को अत्यधिक प्रिय है। श्रीगणेश को चतुर्थी का स्वामी बताया गया है। अंगारक चतुर्थी का संबंध भगवान गणपती के आंगरक स्वरूप अर्थात सिंदूरी स्वरूप से है। वेदव्यास जी के अनुसार मंगला चौथ पर जप, दान, अनुष्ठान दस लाख गुणा प्रभावशाली होता है। मत्स्य पुराण, नारद पुराण व गणेश पुराण जैसे शास्त्रों में आंगरकी चतुर्थी की बड़ी महिमा कही गई है। 


गणेश पुराण के उपासना खण्ड के साठवें अध्याय अंगारक चतुर्थी की महात्म वर्णित है। अंगारक अर्थात मंगल देव के कठिन तप से प्रसन्न होकर गणेश जी ने वरदान देकर मंगलवारीय चतुर्थी को अंगारकी चतुर्थी नाम दिया। आंगरक चतुर्थी के विशेष उपाय से हर कार्य निर्विघ्न सम्पूर्ण होता है। व्यक्ति को सारे सुख प्राप्त होते हैं तथा कर्ज से मुक्ति मिलती है।


पूजन विधि: गणेश जी का षोडशोपचार पूजन करें। गौघृत में सिंदूर मिलाकर दीपक करें, गुग्गल से धूप करें, गेंदा के फूल चढ़ाएं, सिंदूर चढ़ाएं, गुड का भोग लगाएं तथा मूंगे की माला से इस विशेष मंत्र का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद भोग किसी ब्राह्मण को दान करें।


पूजन मुहूर्त: शाम 18:00 से शाम 19:00 तक।

चंद्र पूजन मुहूर्त: 20:50 से दिन 21:50 तक। (चंद्रोदय)

पूजन मंत्र: ॐ चन्द्रचूड़ामण्ये नमः॥

उपाय
सुख प्राप्ति हेतु गणपती पर 11 लड्डू चढ़ाकर ब्राह्मण को दान करें।


कर्जों से मुक्ति के लिए गणपती पर 4 बिल्व गिरि चढ़ाकर तिजोरी में स्थापित करें। 

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!