PMJDY के तहत जीवन बीमा और दुर्घटना बीमा दावों की तादाद बेहद कमः RTI

Wednesday, February 14, 2018 4:22 PM
PMJDY के तहत जीवन बीमा और दुर्घटना बीमा दावों की तादाद बेहद कमः RTI

नई दिल्लीः सूचना के अधिकार (आर.टी.आई.) से पता चला है कि देश में प्रधानमंत्री जन धन योजना (पी.एम.जे.डी.वाय.) के तहत पिछले कोई साढ़े तीन साल में लगभग 31 करोड़ खाते खोले गए हैं। लेकिन आलोच्य अवधि में सरकार को इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत जीवन बीमा के केवल 5,177 दावे प्राप्त हुए हैं। इनमें से 4,543 पात्र दावों में 13.62 करोड़ रुपए की जीवन बीमा राशि का भुगतान किया गया है।

मध्यप्रदेश के नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने आज बताया कि उनकी आर.टी.आई. अर्जी पर वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग ने 12 जनवरी तक की स्थिति के मुताबिक उन्हें यह जानकारी दी है। जन धन खाता धारक की मत्यु होने पर उसके नामित व्यक्ति को 30,000 रुपए की जीवन बीमा राशि प्रदान की जाती है।  आर.टी.आई. अर्जी पर मिले जवाब से यह भी मालूम पड़ा कि पी.एम.जे.डी.वाय. के तहत सरकार को आलोच्य अवधि में रुपे कार्ड से जुड़ी दुर्घटना बीमा योजना के कुल 3,324 दावे प्राप्त हुए हैं। इनमें से 2,340 पात्र दावों में 23.40 करोड़ रुपए की बीमा राशि का भुगतान किया गया है। पी.एम.जे.डी.वाय. के तहत जन धन खाता धारक को 1 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा कवर प्रदान किया जाता है।

गौड़ ने कहा, जन धन खाता धारकों की 31 करोड़ की बड़ी तादाद के मुकाबले जीवन बीमा और दुर्घटना बीमा के प्राप्त दावों की संख्या बेहद कम है। सरकार को चाहिए कि वह इस सिलसिले में जागरूकता बढ़ाए, ताकि गरीब तबके के लोगों को पी.एम.जे.डी.वाय. का पूरा लाभ मिल सके। सामाजिक कार्यकर्ता ने बताया कि उन्होंने आर.टी.आई. के तहत यह ब्योरा भी मांगा था कि सरकार ने पी.एम.जे.डी.वाय. के तहत किन बीमा कम्पनियों को अब तक कितने प्रीमियम का भुगतान किया है। लेकिन उन्हें इस जानकारी का अब तक इंतजार है।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन