मुकेश अंबानी लाएंगे अपनी खुद की करेंसी, Bitcoin को देगी टक्कर

Friday, January 12, 2018 12:24 PM
मुकेश अंबानी लाएंगे अपनी खुद की करेंसी, Bitcoin को देगी टक्कर

नई दिल्लीः फ्री वॉयस कॉलिंग और अनलिमिटेड 4जी डाटा देकर देश के टेलीकॉम सेक्टर को हिलाने के बाद अब रिलायंस जियो बिटकॉइन जैसी करेंसी को बाजार में उतारने जा रही है। जानकारी के मुताबिक रिलायंस जियो ने अपनी खुद की क्रिप्टोकरेंसी जियो कॉइन बनाने की योजना बनाई है।

अंबानी जियो कॉइन प्रोजेक्ट की देखरेख करेंगे। इसके लिए आकाश अंबानी के नेतृत्व में 50 युवा पेशेवरों की एक टीम बनाई जाएगी। टीम में 25 साल के लोग शामिल होंगे। यह टीम जियो कॉइन के लिए ब्लॉकचेन तकनीक बनाएगी साथ ही इससे जुड़ी अन्य तकनीकी पहलुओं पर नजर रखेगा।

बच्चन फैमिली भी कर चुकी इनवेस्ट
पिछले दिनों एक अंग्रेजी अखबार ने दावा किया था कि बच्चन फैमिली ने करीब ढाई साल पहले मई 2015 में बिटकॉइन (Bitcoin) में 1.6 करोड़ रुपए का निवेश किया था। जिसकी कीमत अब 114 करोड़ रुपए हो चुकी है। अखबार का दावा था कि अमिताभ बच्चन ने अपने बेटे अभिषेक बच्चन के साथ मिलकर पर्सनल इनवेस्टमेंट के तहत सिंगापुर की फर्म मेरिडियन टेक पीटीई में 1.6 करोड़ रुपए का निवेश किया था। इस खबर के आने के बाद लोगों का रुझान बिटकॉइन की तरफ बढ़ गया था।

सरकार कर रही निवेशकों को आगाह
दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने भी निवेशकों को बिटकॉइन (Bitcoin) जैसी क्रिप्टो करेंसी के प्रति आगाह किया था। पिछले दिनों राज्यसभा में प्रश्न काल के दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने द्रमुक सदस्य कनिमोझी के एक पूरक प्रश्न के उत्तर में बताया था कि वित्त मंत्रालय के आर्थिक कार्य विभाग के सचिव की अध्यक्षता में बनी विशेषज्ञ समिति विशिष्ट कार्रवाइयों को सुझाने के लिए क्रिप्टो करेंसी से संबंधित सभी मुद्दों पर विचार-विमर्श कर रही है।

भारत में वैध नहीं क्रिप्टो करेंसी
वित्त मंत्री ने सदन को बताया कि 2013 से 2017 तक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और सरकार का रुख बहुत साफ रहा है कि बिटकॉइन जैसी क्रिप्टो करेंसी भारत में वैध मुद्रा नहीं हैं। कनिमोझी ने सवाल पूछा था कि क्या सरकार बिटकॉइन और एथिरियम जैसी क्रिप्टो करेंसियों को विनियमित करने के संबंध में विचार कर रही है। अरुण जेटली ने कहा था कि क्रिप्टो करेंसी का एक पहलू यह है कि उनमें सरकार पर निर्भरता का अभाव है।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन