Exclusive: भारत से पूरे हो रहे हैं चाइनीज फोन कंपनियों के टार्गेट

Wednesday, July 12, 2017 11:45 AM
Exclusive: भारत से पूरे हो रहे हैं चाइनीज फोन कंपनियों के टार्गेट

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के चलते रिश्ते भले ही तनावपूर्ण चल रहे हों लेकिन मोबाइल कंपनियों के बाजार में दोनों के रिश्ते गहरे होते जा रहे हैं। चाइनीज मोबाइल कंपनियां यहां जमकर बिजनैस कर रही हैं या यूं कहें कि भारतीय मोबाइल बाजार का राजा बनी हुई हैं। बाजार का मानना है कि अगर भारत को इन कंपनियों की माॢकट से निकाल दिया जाए तो ये केवल चीन तक सीमित होकर रह जाएंगी। जर्मनी की रिसर्च कंपनी जी.एफ.के. ग्लोबल हैंडसैट की मार्च 2017 तक की रिपोर्ट के अनुसार, जिओमी स्मार्टफोन के कुल बाजार में 67 प्रतिशत योगदान अकेले भारत का ही है। रेडमी 4 की कामयाबी के बाद तो इसके कारोबार ने और बड़ी उड़ान भरी है। एम.आई. के नाम से फोन बनाने वाली इस चाइनीज कंपनी का भारत के बाद दूसरा सबसे बड़ा बाजार इंडोनेशिया है जहां से इसे 16 प्रतिशत सेल मिल रही है। 

वीवो को तो 73 प्रतिशत सेल भारत से मिल रही है, जबकि ओपो को 48 प्रतिशत व जिओनी को 25 प्रतिशत सेल भारतीय बाजार से मिल रही है। दोनों ही कंपनियों ने भारत में कितनी घुसपैठ बना ली है इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि एक ने आई.पी.एल. की स्पांसरशिप ले ली है तो दूसरी ने भारतीय क्रिकेट टीम को ही अगले 5 साल तक के लिए प्रायोजित कर दिया है। इंडोनेशिया में वीवो को 8 प्रतिशत व ओपो को 18 प्रतिशत ग्लोबल सेल मिल रही है। जिओमी के प्रवक्ता का कहना है कि चीन के बाहर भारत हमारे लिए सबसे अहम माॢकट है। हमारे चेयरमैन का कहना है कि आने वाले तीन से पांच साल में हम भारत में 500 मिलियन डालर का निवेश करने वाले हैं। 

कंपनी का दावा है कि इंटरनैशनल डाटा कार्पोरेशन के आंकड़ों के अनुसार, जिओमी की दुनिया में 14 प्रतिशत कारोबार का हिस्सा होने के कारण दूसरे नंबर की रैंक है, जबकि आनलाइन सेल में 40 प्रतिशत बाजार के साथ यह पहले नंबर पर है। ओपो का भी कहना है कि भारत उनके लिए बहुत ही बड़ी माॢकट है। भारत में बहुत कुछ गुंजाइश बाकी है मोबाइल बाजार में। एक अनुमान के मुताबिक भारत में 2017 में 13 करोड़ मोबाइल फोन की बिक्री का अनुमान है। इनमें से 80 प्रतिशत फोन 4जी युक्त स्मार्टफोन होंगे। दुनियाभर में होने वाली कुल बिक्री का 15 प्रतिशत भारत के हिस्से में आने वाला है। आई.डी.सी. की रिपोर्ट के अनुसार वीवो व ओपो ने 2017 के पहले क्वार्टर में जो बिक्री की है उसके अनुसार ये दुनिया की टॉप 5 ग्लोबल स्मार्टफोन कंपनियों में शामिल हो गई हैं। जिओमी भी टॉप 5 कंपनियों में शुमार है। हालांकि एक और चीनी कंपनी हुआवे भारतीय बाजार पर ज्यादा निर्भर नहीं करती है। उसका मुख्य बाजार वेस्ट एशिया और अफ्रीका में है।  




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !