प्रदेश उपाध्यक्ष होने के बावजूद काम नहीं करने दिया जा रहा: भाजपा सांसद

punjabkesari.in Monday, May 16, 2022 - 10:03 AM (IST)

कोलकाता, 15 मई (भाषा) जूट को लेकर केंद्र की नीतियों की आलोचना कर चुके भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद अर्जुन सिंह ने रविवार को पार्टी के शीर्ष नेताओं पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई का उपाध्यक्ष होने के बावजूद उन्हें राज्य में ‘‘काम नहीं करने दिया जा रहा है।’’
सिंह को अगले सप्ताह पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा दिल्ली बुलाया गया है। उन्होंने भाटपारा में अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा कि जमीनी स्तर के सदस्यों को भी अपनी दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों को अंजाम देना मुश्किल हो रहा है क्योंकि भाजपा की प्रदेश इकाई के नेता उनके काम के आड़े आ रहे हैं।

ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर 2019 में भाजपा में शामिल हुए सिंह ने कहा, ‘‘एक चीज स्पष्ट कर दूं। सोशल मीडिया पर ट्वीट कर हम पश्चिम बंगाल में टीएमसी को सत्ता से हटा नहीं सकते। जिनका जमीनी हकीकत से कोई लेना-देना नहीं है, उन्हें जिम्मेदारी दी गई है, जबकि जनाधार वाले नेताओं की अनदेखी की जा रही है। ऐसे में भाजपा अपने लक्ष्य को कैसे प्राप्त करेगी?’’
बैरकपुर के सांसद ने दावा किया कि भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष होने के बावजूद ‘उनके हाथ बंधे’ हुए हैं। सिंह ने कहा, ‘‘यह ऐसा है जैसे मुझे स्याही और कागज के बिना एक फाउंटेन पेन उपहार में दिया गया है।’’
वरिष्ठ नेता और आसनसोल दक्षिण से भाजपा विधायक अग्निमित्र पॉल से जब सिंह के बयानों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सिंह को काम करने के लिए पर्याप्त स्थान दिया गया है। पॉल ने कहा, ‘‘जहां तक मुझे पता है अर्जुन सिंह को प्रदेश संगठन में समुचित अधिकार और स्थान दिया गया है। पता नहीं वह ऐसे आरोप क्यों लगा रहे हैं।’’
जगतदल क्षेत्र से टीएमसी विधायक सोमनाथ श्याम ने कहा कि अर्जुन सिंह जो कहते हैं, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि वह अभी भी भाजपा के साथ हैं। हाल में हुए एक कार्यक्रम में सिंह के साथ मंच साझा कर चुके श्याम ने कहा, ‘‘अर्जुन सिंह भरोसेमंद नहीं हैं।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News