तृणमूल कांग्रेस भाजपा विरोधी वोटों को बांट रही है, एकजुट मोर्चा उसका बस ड्रामा है: अधीर रंजन चौधरी

punjabkesari.in Friday, Jan 21, 2022 - 09:24 AM (IST)

कोलकाता, 20 जनवरी (भाषा) लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बृहस्पतिवार को यह आरोप लगाते हुए तृणमूल कांग्रेस को निशाना बनाया कि यह पार्टी राज्यों में ‘भाजपा-विरोधी वोटों को बांट’ रही है और भगवा खेमे के विरूद्ध एकजुट मोर्चा बनाने का उसका दावा ‘सुलिखित ड्रामा’ से अलग कुछ नहीं है।

चौधरी ने यह भी कहा कि बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा के साथ मिलीभगत कर कांग्रेस का ‘सफाया’ करने का प्रयास कर रही है।

तृणमूल कांग्रेस ने हाल में गोवा विधानसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की सूची जारी की। ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के साथ मिलकर गोवा विधानसभा चुनाव लड़ रही है। गोवा में अगले महीने विधानसभा चुनाव है।

चौधरी ने कहा, ‘‘ तृणमूल कांग्रेस की मुख्य भूमिका गोवा में बस भाजपा विरोधी वोटों में बिखराव करना है। तृणमूल कांग्रेस धनबल के सहारे अपने साथ कुछ नेताओं को ले आयी, वह कांग्रेस की संभावना को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रही है और यह सिद्ध तथ्य है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘ वह उन राज्यों में जा रही है जहां कांग्रेस भाजपा की मुख्य विपक्षी पार्टी है। वह उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों को छोड़ रही हैं क्योंकि वहां अन्य क्षेत्रीय शक्तियां हैं।’’
वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘ यदि आप तृणमूल कांग्रेस के राजनीतिक इतिहास पर गौर करें तो आप पायेंगे कि पार्टी ने हमेशा उसी हाथ को कुतरने की कोशिश की जिसने उसकी मदद की। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘ अपमानजक हार को देखकर, वह अब भाजपा के विरूद्ध एकजुट संघर्ष तैयार करने की कोशिश करने का ड्रामा कर रही है। तृणमूल कांग्रेस विश्वासपात्र सहयोगी नहीं है। जैसा उसने बंगाल में किया , पार्टी अन्य राज्यों में भी कांग्रेस का सफाया करने का प्रयास कर रही है।’’
चौधरी के बयान पर तृणमूल महासचिव कुणाल घोष ने कहा, ‘‘ यदि कांग्रेस भाजपा का मुकाबला नहीं कर सकती है , तो यह हमारी गलती नहीं है। राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस भाजपा का मुकाबला करने में विफल रही है। लोग अब भगवा पार्टी का मुकाबला करने के लिए तृणमूल की ओर देख रहे हैं।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News