अनुत्तीर्ण छात्रों के मामले में डब्ल्यूबीसीएचएसई ने स्कूलों के प्रमुखों को चर्चा के लिए बुलाया

2021-07-25T12:22:44.167

कोलकाता, 25 जुलाई (भाषा) इस साल उच्चतर माध्यमिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण घोषित किए गए कक्षा 12वीं के छात्रों के एक वर्ग के प्रदर्शनों के बाद पश्चिम बंगाल उच्चतर माध्यमिक शिक्षा परिषद (डब्ल्यूबीसीएचएसई) ने उन स्कूलों के प्रमुखों को एक सप्ताह के भीतर सहायक दस्तावेजों के साथ परिषद के कार्यालय में आने के लिए कहा है जहां के छात्रों ने ऐसी शिकायतें की हैं।

डब्ल्यूबीसीएचएसई द्वारा इस साल की उच्चतर माध्यमिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण घोषित किए गए कक्षा 12वीं के कई छात्रों ने शनिवार को राज्य भर में विरोध प्रदर्शन के दौरान सड़कों को अवरुद्ध कर दिया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कहा कि इस साल कोविड-19 की स्थिति के कारण कोई परीक्षा नहीं होने के कारण उन्हें मूल्यांकन प्रक्रिया का खामियाजा भुगताना पड़ा है। उन्होंने हैरानी जतायी कि कैसे कुछ छात्रों को उत्तीर्ण घोषित कर दिया गया जबकि कुछ अन्य को असफल घोषित कर दिया गया।

डब्ल्यूबीसीएचएसई द्वारा शनिवार देर शाम की अधिसूचना में ऐसे सभी स्कूल प्रमुखों को रविवार से अगले सात दिनों के भीतर दोपहर एक बजे से शाम पांच बजे तक प्रधान कार्यालय आने और परिषद के अधिकारियों से मिलने के लिए कहा गया है। परिषद के अध्यक्ष ने ऐसे स्कूल के अधिकारियों को परिषद के अधिकारियों से जल्द से जल्द मिलने के लिए कहा है जहां छात्रों ने परिणामों पर असंतोष प्रकट किया और प्रदर्शन किया है। इस साल 8,19,202 छात्रों में से 97.69 प्रतिशत को उत्तीर्ण घोषित किया गया है।

इस सप्ताह की शुरुआत में, पश्चिम बंगाल बोर्ड ने कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम घोषित किया था जिसमें शत-प्रतिशत छात्र सफल रहे थे।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News