मीडिया की आजादी को दबाया नहीं जा सकता, पतन के दौर से गुजर रहे हैं समाचार-पत्र :ममता

2021-01-20T22:10:04.157

कोलकाता, 20 जनवरी (भाषा) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि मीडिया की आजादी को दबाया नहीं जाना चाहिए और समाचार-पत्र उद्योग पतन के दौर से गुजर रहा है।

बनर्जी ने कहा कि अगर अखबारों को स्वतंत्रता से लिखने नहीं दिया गया तो क्या लोकतंत्र उस तरह से काम कर पाएगा, जैसे उसे करना चाहिए।

बांग्ला दैनिक ‘बर्तमान’ के संस्थापक-संपादक बरुण सेनगुप्ता के जीवन और कार्यों को सम्मान देने के लिए स्थापित एक संग्रहालय का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मीडिया की आजादी को दबाया नहीं जा सकता। हालांकि अखबार उद्योग पतन के दौर से गुजर रहा है।’’
सेनगुप्ता का 2008 में निधन हो गया था। उनके जीवन पर रोशनी डालते हुए बनर्जी ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार ने आम आदमी और विभिन्न विचारधाराओं के राजनीतिक दलों के साथ अच्छा संपर्क रखा।

उन्होंने कहा, ‘‘इन दिनों दिल्ली से एक फरमान आने के बाद सभी का मुंह बंद हो जाता है, लेकिन उन दिनों हालात बहुत अलग थे।’’
मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि संग्रहालय के परिसर में एक पत्रकारिता संस्थान खोला जाता है तो राज्य सरकार जरूरी सहायता प्रदान करेगी।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News