तेलंगाना में कोविड-19 के 3,307 नये मामले; अधिकारियों ने स्थिति गंभीर होने को लेकर चेताया

2021-04-15T20:29:17.36

हैदराबाद, 15 अप्रैल (भाषा) तेलंगाना में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,307 नये मामले सामने आये हैं जिसके बाद यहां संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 3.38 लाख से अधिक हो गयी है । राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को एक बुलेटिन जारी कर इसकी जानकारी दी ।
बुलेटिन में कहा गया है कि संक्रमण के कारण आठ और लोगों की मौत हो गयी है जिसके बाद राज्य में संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ कर 1,788 पर पहुंच गयी है ।
इस बुलेटिन में कहा गया है कि 14 अप्रैल की रात आठ बजे तक उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, प्रदेश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 3,38,045 हो गयी है । इसके अनुसार, प्रदेश में 897 लोग संक्रमण मुक्त हुये हैं जिससे प्रदेश में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ कर 3,08,396 हो गयी है ।
बुलेटिन में कहा गया है कि प्रदेश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 27,861 है।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) में सबसे अधिक 446 मामले आए, उसके बाद मेडचल मलकाजगिरी में 314 और निजामाबाद में 279 मामले सामने आए।
सरकार की ओर से जारी एक अन्य बयान में कहा गया है कि 14 अप्रैल तक प्रदेश में 21.35 लाख से अधिक लोग कोविड रोधी टीके की पहली खुराक जबकि 3.22 लाख से अधिक लोग दूसरी खुराक ले चुके हैं।

तेलंगाना के सार्वजनिक स्वास्थ्य निदेशक जी श्रीनिवास राव ने बुधवार रात एक वीडियो संदेश में लोगों को सावधान किया कि अगर मौजूदा स्थिति जारी रहती है और लोग स्वयं से सुरक्षा नियमों का पालन नहीं करते हैं, तो राज्य महाराष्ट्र की तरह अगला कोरोनवायरस हॉटस्पॉट बन जाएगा।
उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 मामलों की संख्या में काफी वृद्धि हो रही है। यह स्थिति चार से छह सप्ताह तक जारी रह सकती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यदि मौजूदा स्थिति बनी रहती है, तो तेलंगाना महाराष्ट्र (मामलों के संदर्भ में) की तरह हो जाएगा।’’ राव ने कहा कि चूंकि राज्य सरकार कर्फ्यू लगाने या लॉकडाउन की योजना नहीं बना रही है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि स्थिति खराब नहीं है।
लोगों से घर पर भी मास्क पहनने की अपील करते हुए अधिकारी ने कहा कि वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है।
इस बीच, तेलंगाना के मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की और उन्हें सरकारी अस्पतालों और निजी मेडिकल कॉलेजों में कोविड-19 रोगियों के लिए बिस्तर की क्षमता बढ़ाने और राज्य में किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static