सीएससी देश अंतरराष्ट्रीय अपराधों से निपटने के लिए साथ आएं व समुद्र को सुरक्षित बनाएं : रक्षा सचिव

punjabkesari.in Friday, Dec 02, 2022 - 10:05 AM (IST)

चेन्नई, एक दिसंबर (भाषा) भारतीय रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने ने बृहस्पतिवार को कोलंबो सुरक्षा सम्मेलन (सीएससी) के सदस्य देशों को अंतरराष्ट्रीय अपराधों का मुकाबला करने और समुद्र को सुरक्षित बनाने के लिए ठोस उपाय करने की आवश्यकता पर जोर दिया।
उन्होंने समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद से मुकाबला, अंतरराष्ट्रीय संगठित अपराध, साइबर सुरक्षा, अहम तटीय बुनियादी ढांचे की सुरक्षा और आपदा राहत से संबंधित आम मुद्दों का हल किए जाने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया।

उन्होंने सीएससी के तत्वावधान में भारतीय तटरक्षक बल द्वारा आयोजित पहले तटीय सुरक्षा सम्मेलन (सीओएससी) का उद्घाटन करते हुए यह टिप्पणी की।

इस दो दिवसीय सम्मेलन का विषय "तटीय सुरक्षा के लिए सहयोगात्मक प्रयास" है और इसमें चार सदस्य देशों-भारत, मालदीव, श्रीलंका और मॉरीशस ने भाग लिया। सीएससी के पर्यवेक्षक देशों- बांग्लादेश और सेशेल्स के प्रतिनिधियों ने भी इस सम्मेलन में भाग लिया।

अरमाने ने सम्मेलन में भाग लेने वाले देशों से तटरक्षकों और समुद्री कानून प्रवर्तन एजेंसियों के बीच सहयोग बढ़ाने का आह्वान किया।

उन्होंने स्थापना के चार दशकों के अदंर खुद को मजबूत पेशेवर बल के रूप में स्थापित करने और सुरक्षित एवं स्वच्छ समुद्र सुनिश्चित करने में सहयोगी एजेंसियों के साथ भागीदारी के लिए भारतीय तटरक्षक बल की सराहना की।

उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार विक्रम मिस्री ने क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ाने के लिए सभी तटरक्षक बलों के बीच सहयोग पर जोर दिया।

भारतीय तटरक्षक बल के महानिदेशक वी एस पठानिया ने कहा कि तटीय सुरक्षा सम्मेलन समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आम सहमति तैयार करने में मदद करता है।

इस सम्मेलन में समुद्री पुलिस के प्रमुखों के अलावा विभिन्न मंत्रालयों के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News