पनीरसेल्वम का अपमान नहीं किया गया, भाजपा ‘तीसरी पार्टी’ : अन्नाद्रमुक नेता जयकुमार

punjabkesari.in Saturday, Jun 25, 2022 - 08:28 PM (IST)

चेन्नई, 25 जून (भाषा) अन्नाद्रमुक में एकल नेतृत्व के मुद्दे पर पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के संयुक्त समन्वयक के. पलानीस्वामी का समर्थन कर रहे अन्नाद्रमुक नेता डी.जयकुमार ने शनिवार को उन आरोपों से इनकार किया, जिसमें कहा गया था कि आम परिषद की बैठक में पार्टी के समन्वयक ओ. पनीरसेल्वम के साथ अपमानजनक व्यवहार किया गया था।
उन्होंने कहा कि पनीरसेल्वम के फैसले से पार्टी कार्यकर्ता हताश हुए हैं।
जयकुमार ने भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए उसे ‘तीसरी पार्टी’ बताया। साथ ही उन्होंने नसीहत दी कि भाजपा को अन्नाद्रमुक के अंदरुनी मामलों में दखल नहीं देना चाहिए।
पलानीस्वामी को पदोन्नति देकर अन्नाद्रमुक का महासचिव बनाने और पनीरसेल्वम को पदावनत कर उन्हें पार्टी कोषाध्यक्ष बनाने की मांग पर कायम रहते हुए जयकुमार ने दावा किया कि 23 जून को आम परिषद की हुई बैठक में किसी ने पनीरसेल्वम को अपमानित नहीं किया।
उल्लेखनीय है कि दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के समय भी पनीरसेल्वम पार्टी कोषाध्यक्ष के पद पर थे।

आम परिषद की बैठक में पनीरसेल्वम द्वारा पेश किये गये सभी 23 प्रस्तावों को खारिज कर कथित तौर पर उन्हें अपमानित करने के मामले को तूल नहीं देते हुए जयकुमार ने कहा, ‘‘अन्नाद्रमुक की मंशा किसी का अपमान करना नहीं है और ना ही उसका यह उद्देश्य है। बैठक में पनीरसेल्वम के साथ अपमानजनक व्यवहार नहीं किया गया।’’
उल्लेखनीय है कि अन्नाद्रमुक की आम परिषद की हुई बैठक में उस समय अफरा-तफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी जब पनीरसेल्वम पार्टी में एकल नेतृत्व प्रणाली के खिलाफ बोलने के लिए खड़े हुए तो उनपर पानी की बोतल फेंकी गई। इसके बाद वे अपने समर्थकों के साथ बैठक छोड़ कर चले गये।
जयकुमार ने कहा, ‘‘हालांकि, यदि कोई अशोभनीय घटना हुई है तो वह खेदजनक है।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News