जानेमाने पुरातत्वविद् नागास्वामी का निधन

punjabkesari.in Monday, Jan 24, 2022 - 01:01 AM (IST)

चेन्नई 23 जनवरी (भाषा) जानेमाने पुरातत्वविद्, कला इतिहासकार एवं पद्म भूषण से सम्मानित आर. नागास्वामी का रविवार को यहां निधन हो गया। वह 91 वर्ष के थे। वह तमिलनाडु के पुरातत्व विभाग के पहले निदेशक थे।

नागास्वामी के दामाद भास्कर कैलासम ने पीटीआई-भाषा को बताया कि नागास्वामी के परिवार में दो बेटियां और दो बेटे हैं। उनकी पत्नी का पहले ही निधन हो चुका था। उन्होंने बताया, ‘‘उनका (आर. नागास्वामी) निधन चेन्नई स्थित आवास पर अपराह्न करीब ढाई बजे हुआ।’’
नागास्वामी प्रसिद्ध पाथुर नटराज मामले में लंदन की एक अदालत में एक विशेषज्ञ गवाह थे और उन्होंने चोल-युग के कांस्य नटराज को तमिलनाडु वापस लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

केरल पुरातत्व विभाग और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पूर्व निदेशक टी सत्यमूर्ति ने कहा, ‘‘नागास्वामी का निधन पुरातत्व के क्षेत्र के लिए एक अपूरणीय क्षति है। वह तमिल और संस्कृत के एक महान विद्वान थे, उन्होंने प्राचीन तमिल कला पर कई शोध पत्र प्रकाशित किए थे। एक पुरातत्वविद् के रूप में, उन्होंने प्राचीन पांडियन बंदरगाह कोरकई सहित तमिलनाडु में कई स्थलों की खुदाई की थी।’’
तमिलनाडु सरकार के पुरातत्व विभाग के गठन के बाद नागास्वामी 1966 में इसके पहले निदेशक बने। वह 1988 में सेवानिवृत्त हुए। पुरातत्व के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उन्हें 2018 में प्रतिष्ठित पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News