तमिलनाडु में जबरन धर्मांतरण के लिए कोई जगह नहीं है: मंत्री

punjabkesari.in Saturday, Jan 22, 2022 - 07:11 PM (IST)

चेन्नई, 22 जनवरी (भाषा) तमिलनाडु के हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ बंदोबस्ती विभाग के मंत्री पी. के. शेखर बाबू ने शनिवार को यहां कहा कि राज्य में जबरन धर्मांतरण के लिए कोई जगह नहीं है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तमिलनाडु इकाई पर निशाना साधते हुए शेखर बाबू ने पत्रकारों से कहा कि पिछले साल ‘थाई पुसम’ उत्सव से पहले भाजपा ने राज्य में ‘वेल यात्राएं’ निकाली थीं। उन्होंने पूछा, ‘‘क्या अब आप कहीं भी (भाजपा के लोगों को) वेल यात्राएं निकालते हुए देखते हैं। भाजपा ने इस साल उत्सव के साथ इस तरह के आयोजन नहीं किये।’’
बाबू ने कहा कि भाजपा के विपरीत उनकी पार्टी द्रमुक और मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन सभी धर्मों का समान रूप से आदर करते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में जबरन धर्मांतरण के लिए कोई जगह नहीं है।

गौरतलब है कि तंजावुर जिले में 17 साल की एक छात्रा की आत्महत्या के मामले में भाजपा ने एक स्कूल प्रबंधन पर उसे ईसाई धर्म अपनाने के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News