केन्द्र ने आईसीएफ का निजीकरण नहीं करने का आश्वासन दिया : वाइको

2021-07-24T17:32:17.247

चेन्नई, 24 जुलाई (भाषा) रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को मारुमालार्ची द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एमडीएमके) के प्रमुख वाइको को आश्वासन दिया कि सरकार द्वारा संचालित इंटीग्रल कोच फैक्टरी (आईसीएफ) का निजीकरण नहीं किया जाएगा। एमडीएमके ने एक विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दी।
विज्ञप्ति के मुताबिक वाइको ने दिल्ली में वैष्णव से मुलाकात कर उन्हें आईसीएफ के संभावित निजीकरण को लेकर कर्मचारियों की चिंताओं के बारे में अवगत कराया और केन्द्रीय रेल मंत्री से उत्पादन इकाई का निजीकरण नहीं करने का आग्रह किया। वाइको ने कहा कि आईसीएफ का निजीकरण होने से हजारों लोगों की नौकरी जा सकती है।
एमडीएमके की विज्ञप्ति के मुताबिक रेल मंत्री ने वाइको को आश्वासन दिया कि चेन्नई स्थित आईसीएफ का किसी भी परिस्थति में निजीकरण नहीं किया जाएगा। वर्ष 1955 में स्थापित आईसीएफ रेल मंत्रालय के तहत एक उत्पादन इकाई है और यहां ट्रेन के कोच और अन्य उपकरणों का उत्पादन किया जाता है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News