द्रमुक और भाकपा के बीच तालमेल हुआ, कांग्रेस ने सम्मानजनक संख्या में सीटों की मांग की

03/05/2021 10:41:49 PM

चेन्नई, पांच मार्च (भाषा) द्रमुक ने तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के साथ गठबंधन को अंतिम रूप देते हुए शुक्रवार को उसे छह सीटें देने का फैसला किया, हालांकि कांग्रेस ने कहा है कि वह सम्मानजनक संख्या में सीटें चाहती है ताकि उसके कार्यकर्ताओं का हौसला बुलंद रह सके।

एमके स्टालिन की अगुवाई वाली द्रमुक विधानसभा चुनावों के लिए अब तक भाकपा समेत चार दलों के साथ गठबंधन को अंतिम रूप दे चुकी है और माना जा रहा है कि माकपा के साथ भी उसकी सहमति जल्द बन जाएगी।
भाकपा की प्रदेश इकाई के सचिव आर मुथरासन ने कहा कि यह संख्या का विषय नहीं है, बल्कि बुनियादी मकसद द्रमुक की अगुवाई वाली धर्मनिरपेक्ष ताकतों की जीत सुनिश्चित और ‘विभाजनकारी तत्वों’ को हराना जरूरी है।

उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी की ओर से अपनी पसंद की सीटों की सूची द्रमुक को दी गई है।

द्रमुक आईयूएमएल और मनिथानेय मक्कल काची को क्रमश: तीन एवं दो सीटें दे चुकी है तथा वीसीके के हिस्से में छह सीटें गई हैं।

कांग्रेस और एमडीएमके के बीच अब तक सीटों को लेकर सहमति नहीं बन सकी है। सूत्रों का कहना है कि द्रमुक इस चुनाव के लिए एमडीएमके को सात और कांग्रेस को 22 सीटें देने की पेशकश कर रही है।
कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि पार्टी 30 से कम सीटें स्वीकार नहीं करेगी।।

पार्टी के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने यह भी कहा कि कांग्रेस सीटों के तालमेल के संदर्भ में कड़ा स्पष्ट रुख अपनाए हुए है। प्रदेश की सभी 234 विधानसभा सीटों पर छह अप्रैल को मतदान है।
उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि द्रमुक को इसका अहसास जरूर होगा कि तमिलनाडु में धर्मनिरपेक्ष दलों का साथ आना जरूरी है।

मोइली ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘भाजपा के नेतृत्व वाला राजग जिन विभाजनकारी ताकतों का प्रतिनिधित्व करता है उनको पराजित किया जाना जरूरी है और तमिलनाडु संघवाद और राष्ट्रवाद की भावना को बनाए रखने का एक मजबूत स्थान है।’’
इससे पहले मोइली ने संकेत दिया था कि द्रमुक के साथ सीटों के तालमेल को लेकर बातचीत बहाल होगी।

द्रमुक ने बृहस्पतिवार को कांग्रेस से आग्रह किया था कि वह बातचीत फिर आरंभ करे। इससे पहले कांग्रेस के तमिलनाडु प्रभारी दिनेश गुंडुराव ने सीटों को लेकर द्रमुक की पेशकश के संदर्भ में तमिलनाडु प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेताओं के साथ चर्चा की थी।

कांग्रेस और द्रमुक के बीच अब तक दो दौर की बातचीत हो चुकी है जो बेनतीजा रही है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News