खरगे ने पूर्व-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना पर फैसले को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा

punjabkesari.in Wednesday, Nov 30, 2022 - 04:13 PM (IST)

नयी दिल्ली, 30 नवंबर (भाषा) कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और अल्पसंख्यक समुदायों के लिए पूर्व-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना को 9वीं और 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों तक सीमित किए जाने को लेकर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि गरीब परिवारों के इन बच्चों से ‘पैसे छीनकर’ सरकार कितना पैसा बचा लेगी ?
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘नरेंद्र मोदी जी, आपकी सरकार ने एसएसी, एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यक समुदायों के पहली कक्षा से आठवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए स्थापित पूर्व-मैट्रिक छात्रृवित्त योजना को बंद कर दिया है।’’
खरगे ने सवाल किया, ‘‘गरीब परिवारों के छात्रों को छात्रवृत्ति बंद करने का क्या मतलब है? इन छात्रों से पैसे छीनकर आपकी सरकार कितना कमा लेगी या बचा लेगी?’’
उल्लेखनीय है कि शिक्षा का अधिकार (आरटीई) कानून के तहत सभी छात्रों के लिए आठवीं कक्षा तक अनिवार्य शिक्षा के प्रावधान का उल्लेख करते हुए सरकार ने अब अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और अल्पसंख्यक समुदायों के लिए अपनी पूर्व-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना को 9वीं और 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों तक सीमित कर दिया है।

इससे पहले, पूर्व-मैट्रिक छात्रवृत्ति में पहली कक्षा से 8वीं तक की शिक्षा के साथ-साथ अल्पसंख्यक समुदायों के छात्रों को भी शामिल किया जाता था। पूर्व-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के छात्रों को केवल कक्षा 9वीं और 10वीं से पूर्णकालिक आधार पर कवर किया जाता है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News