श्रृंगला ने सीमापार तकनीक एवं निवेश के प्रवाह से युक्त नयी प्रौद्योगिकी व्यवस्था की वकालत की

punjabkesari.in Tuesday, Nov 29, 2022 - 09:08 PM (IST)

नयी दिल्ली, 29 नवंबर (भाषा) वरिष्ठ राजनयिक हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने सीमापार तकनीक एवं निवेश के प्रवाह से युक्त एक ऐसी नयी प्राद्योगिकी व्यवस्था की मंगलवार को वकालत की, जो विकास एवं वृद्धि की आकांक्षाओं पर आधारित हो ।
जी-20 के लिये भारत के मुख्य समन्वयक श्रृंगला ने वैश्विक प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही ।
उन्होंने कहा कि विकसित एवं उभरती अर्थव्यवस्थाओं के समूह जी-20 की भारत की अध्यक्षता के दौरान विकास के लिये डाटा का सिद्धांत व्यापक विषय का अभिन्न हिस्सा रहेगा ।
उन्होंने कहा, ‘‘ हमारी अध्यक्षता में समग्र वैश्विक स्वास्थ्य ढांचा सृजित करने के प्रयासों को आगे ले जाया जायेगा, जो कोविड महामारी जैसी भविष्य की स्वास्थ्य चुनौतियों का बेहतर ढंग से उत्तर दे सके।’’
ज्ञात हो कि भारत जी-20 समूह की अध्यक्षता इंडोनेशिया से एक दिसंबर को ग्रहण करेगा। जी-20 में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, दक्षिण कोरिया, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्किये, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपीय संघ (ईयू) शामिल हैं।
श्रृंगला ने कहा कि जहां तक स्वास्थ्य सेवा एवं पोषण तक पहुंच का विस्तार करने की बात आती है, तब साक्ष्य आधारित नीति एवं प्रौद्योगिकी विकास के फायदों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है ।

उन्होंने कहा, ‘‘ जी-20 में इस मॉडल को अंतरराष्ट्रीय रूप प्रदान किया जा सकता है। डिजिटल इंडिया को वैश्विक बनना चाहिए। नयी प्राद्योगिकी व्यवस्था तकनीक एवं निवेश के प्रवाह से युक्त तथा विकास एवं वृद्धि की आकांक्षाओं पर आधारित हो।’’
श्रृंगला ने कहा कि भारत जी-20 समूह में अपने सहयोगियों के साथ एक ऐसा तंत्र सृजित करने की दिशा में प्रयास करेगा, जो कोविड-19 महामारी एवं भविष्य की किसी महामारी जैसे स्वास्थ्य संकट से निपटने में विकासशील देशों की क्षमता को मजबूत बनाए।
उन्होंने कहा, ‘‘हमें बौद्धिक संपदा, नवाचार और स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी के सह विकास के लिये नयी पहल अपनाने की जरूरत है, ताकि स्वास्थ्य संकट को लेकर अधिक समावेशी ढंग से प्रतिक्रिया सुनिश्चित की जा सके।’’
उन्होंने कहा कि भारत ने एक नये सम्पर्क समूह ‘स्टार्टअप 20’ का प्रस्ताव किया है, जो सभी देशों के स्टार्टअप को एक दूसरे के साथ सहयोग करने में मदद प्रदान करेगा ।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News