नीति आयोग ने क‍ोविड-19 से निपटने के लिए आयुष प्रथाओं का संग्रह जारी किया

punjabkesari.in Saturday, Jul 02, 2022 - 07:28 PM (IST)

नयी दिल्ली, दो जुलाई (भाषा) नीति आयोग ने भविष्य में क‍ोविड-19 के संभावित प्रकोप से निपटने के लिए राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों की आयुष आधारित प्रथाओं का एक संग्रह जारी किया है। एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई है।
नीति आयोग के उपाध्यक्ष सुमन बेरी ने संग्रह जारी करते हुए कहा कि कोविड-19 के प्रकोप के दौरान राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर की आयुष प्रथाओं ने कैसे लोगों को फायदा पहुंचाया, इससे जुड़ी जानकारी साझा करना बेहद जरूरी है।

उन्होंने बताया कि यह संग्रह आयुष के संसाधनों और पद्धतियों के इस्तेमाल से कोविड-19 के खिलाफ जंग को मजबूत करने के लिए भारत के विभिन्न राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों द्वारा अपनाई गई प्रथाओं पर केंद्रित जानकारी मुहैया करता है।

कार्यक्रम में नीति आयोग के सदस्य वी के पॉल ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि संग्रह में शामिल प्रथाएं भविष्य में न सिर्फ महामारी के संभावित प्रकोप से निपटने में मददगार साबित होंगी, बल्कि स्वास्थ्य क्षेत्र में एकीकृत कार्रवाई के मॉडल के रूप में भी काम करेंगी।

आधिकारिक बयान के मुताबिक, आयुष आधारित प्रथाओं का संग्रह तैयार करते समय नीति आयोग ने सभी राज्यों की सरकारों और केंद्र-शासित प्रदेशों के प्रशासन से संपर्क कर उन पद्धतियों के बारे में बताने का आग्रह किया, जिनका इस्तेमाल उन्होंने कोविड-19 की रोकथाम एवं प्रबंधन के लिए किया था।

बयान के अनुसार, रिपोर्ट में संकेत दिया गया है कि देश में पारंपरिक स्वास्थ्य प्रणालियों को और मजबूत किया जाएगा। इसमें कहा गया है कि आधुनिक प्रणाली के साथ साक्ष्य-आधारित आयुष प्रथाओं का एकीकरण भारत की स्वास्थ्य प्रणाली को काफी मजबूत बनाने की क्षमता रखता है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News