कोविंद ने फिलीपीन के नये राष्ट्रपति को बधाई दी, द्विपक्षीय संबंधों में मजबूती आने का विश्वास जताया

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 04:09 PM (IST)

नयी दिल्ली, एक जुलाई (भाषा) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने फिलीपीन के नये राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभालने पर फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर को बधाई दी और विश्वास जताया कि उनके (मार्कोस) के सक्षम नेतृत्व में भारत-फिलीपीन गठजोड़ का विस्तार होगा और उसमें मजबूती आयेगी।
राष्ट्रपति ने यह बात मार्कोस जूनियर को लिखे पत्र में कही है, जिसे विदेश राज्य मंत्री डा. राजकुमार रंजन सिंह ने फिलीपीन के नये राष्ट्रपति को सौंपा।
विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर के 30 जून को मनीला में फिलीपीन के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वहां की सरकार के निमंत्रण पर विदेश राज्य मंत्री सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विशेष दूत के रूप में हिस्सा लिया।

विदेश राज्य मंत्री ने एक जुलाई 2022 को शिष्टाचार भेंट के दौरान राष्ट्रपति मार्कोस को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का एक पत्र सौंपा।
मंत्रालय के अनुसार पत्र में, राष्ट्रपति कोविंद ने फिलीपीन में राष्ट्रपति पद संभालने को लेकर फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर को बधाई दी और विश्वास जताया किया कि उनके (मार्कोस) के सक्षम नेतृत्व में भारत-फिलीपीन गठजोड़ का विस्तार होगा और उसमें मजबूती आयेगी।
शिष्टाचार भेंट के दौरान विदेश राज्य मंत्री ने द्विपक्षीय संबंधों में हाल में आई विविधिता का जिक्र किया। साथ ही, उन्होंने विकासात्मक आकांक्षाओं एवं राष्ट्रीय सुरक्षा उद्देश्यों पर भारत के दृष्टिकोण का जिक्र करने सहित द्विपक्षीय गठजोड़ को और प्रगाढ़ बनाने के लिये फिलीपीन की नयी सरकार के साथ मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।
विदेश राज्य मंत्री ने अपनी यात्रा के दौरान फिलीपीन में भारतीय समुदाय के लोगों से भी बातचीत की।
गौरतलब है कि मार्कोस जूनियर ने फिलीपीन के नये राष्ट्रपति के तौर पर रोड्रिगो दुर्तेते की जगह ली है। फिलीपीन में पूर्व तानाशाह के बेटे फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर ने बृहस्पतिवार को देश के राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली थी। देश की राजधानी मनीला के राष्ट्रीय संग्रहालय में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया था।

फिलीपीन में इस घटना को हाल के इतिहास में सबसे बड़ी राजनीतिक वापसी में से एक माना जा रहा है। लेकिन, मार्कोस के विरोधियों का कहना है कि उनके परिवार की छवि सुधरने के बाद ही ऐसा हो सका है।

फिलीपीन के तानाशाह एवं फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर के पिता फर्डिनेंड मार्कोस को 36 साल पहले सेना के समर्थन से सत्ता से बेदखल कर दिया गया था।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News