गैर बैंकिंग फर्म की अधिकारी के तौर पर खुद को पेश कर लोगों से धोखाधड़ी करने वाली महिला गिरफ्तार

punjabkesari.in Sunday, Jun 26, 2022 - 10:07 PM (IST)

नयी दिल्ली, 26 जून (भाषा)अलग-अलग गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) की अधिकारी के तौर पर खुद को पेश कर लोगों से कथित तौर पर धोखाधड़ी करने के आरोप में 27 वर्षीय एक महिला को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि गिरफ्तार महिला की पहचान मनीषा अहीरवाल के तौर पर की गई है, जिसे रोहिणी सेक्टर-8 में किराए के मकान से चलाए जा रहे फर्जी कॉल सेंटर से गिरफ्तार किया गया है।
पुलिस के मुताबिक, 31 मई को दिलीप कुमार नामक व्यक्ति की शिकायत पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई। कुमार ने आरोप लगाया कि एक महिला का उन्हें कॉल आया, जिसने खुद को एक एनबीएफसी में अधिकारी के तौर पर पेश किया। शिकायतकर्ता के मुताबिक यह कॉल क्रेडिट कार्ड जारी करने से जुड़ा था।
पुलिस ने शिकायत के हवाले से बताया कि महिला ने एक लिंक भेजा और उनके ब्योरे की पुष्टि करने के लिए एक रुपये का भुगतान करने को कहा, लेकिन एक रुपये के बजाय कुमार के खाते से 24,745 रुपये निकाल लिए गए।
पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान खुलासा हुआ कि राशि का अंतरण अहीरवाल ने किया है।
पुलिस उपायुक्त (बाहरी दिल्ली) समीर शर्मा ने बताया कि बाद में रोहिणी में किराए के मकान से फर्जी कॉल सेंटर संचालित किये जाने की जानकारी मिली। उन्होंने बताया कि पुलिस ने छापेमारी की कार्रवाई कर अहीरवाल और उसके दो साथियों को पकड़ लिया।
पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान अहीरवाल ने बताया कि उसने करीब दो साल तक कॉलसेंटर में काम किया और बाद में अपना कॉल सेंटर खोलने का फैसला किया।
पुलिस उपायुक्त ने बताया कि जनवरी में उसने रोहिणी सेक्टर आठ में किराए का कमरा लिया और दो लोगों को टेलीकॉलिंग के लिए नियुक्त किया। तीनों ने मिलकर खुद को बड़ी कंपनियों की अधिकारी के तौर पर पेश कर लोगों को धोखा देने की साजिश रची।
पुलिस ने बताया कि अहीरवाल का गुजरात के अहमदाबाद निवासी क्रुणाल शाह से संपर्क था, जो फर्जी वेबसाइट का लिंक, बैंक खातों की जानकारी और फर्जी सिम कार्ड मुहैया कराता था। उन्होंने बताया कि नेहा नाम की आरोपी ग्राहकों का डाटा मुहैया कराती थी, जिनकी मदद से अहीरवाल ने अपनी टीम के साथ मिलकर कई लोगों के साथ धोखाधड़ी की।
उन्होंने बताया कि शाह उत्तम नगर बस अड्डे पर अहीरवाल से मिलता था और खातों, फोन नंबर और फर्जी वेबसाइट की जानकारी देता और बदले में रुपये लेता था। पुलिस ने बताया कि शाह और नेहा को गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News