आत्महत्या मामला : परिवार के महीनों पहले इसकी योजना बनाने की आशंका

punjabkesari.in Sunday, May 22, 2022 - 10:09 PM (IST)

नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के वसंत विहार इलाके में शनिवार को एक फ्लैट में एक ही परिवार के तीन सदस्य मृत मिले थे और पुलिस ने आशंका जतायी है कि परिवार ने "कुछ महीने पहले आत्महत्या की योजना बनाई।"
मंजू श्रीवास्तव (55) और उनकी दो बेटियां अंकिता (30) तथा अंशुता (26) परिवार के मुखिया उमेश श्रीवास्तव की पिछले साल कोविड के कारण मृत्यु के बाद अवसादग्रस्त थीं। उनके रिश्तेदारों ने कहा कि वे लोग वित्तीय कठिनाइयों का भी सामना कर रहे थे।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "शुरुआती जांच और पुलिस को मिले सुसाइड नोट से ऐसा लगता है कि पीड़ित परिवार पिछले कुछ महीनों से आत्महत्या करने की योजना बना रहा था...।"
उन्होंने कहा कि जब पुलिस पहली बार अपराध स्थल पर पहुंची तो उन्हें दीवार पर हाथ से लिखी चेतावनी के साथ एक कागज चिपका मिला। कागज पर लिखा था , " अंदर बहुत अधिक खतरनाक गैस है.... कार्बन मोनोऑक्साइड। यह ज्वलनशील है। कृपया खिड़की खोलकर कमरे को हवादार बनाएं और पंखा चालू करें। माचिस, मोमबत्ती या और कुछ भी न जलाएं !! परदे को हटाते वक्त सावधानी बरतें क्योंकि कमरा खतरनाक गैसों से भरा है। सांस नहीं लें। अंदर की खिड़की को बाहर से खोलें।"

पुलिस ने यह भी बताया कि उन्होंने देखा कि घर में गैस सिलेंडर आंशिक रूप से खुला था और उन्होंने चार सुसाइड नोट बरामद किए। इसके अलावा, जिस कमरे में तीनों महिलाएं मृत मिली थीं, उसे कमरे को इस तरह से बंद किया गया था कि धुआं बाहर नहीं जाए और कमरे में तीन छोटी अंगीठी भी थी।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News