नड्डा ने 14 देशों के राजनयिकों से किया संवाद

punjabkesari.in Monday, May 16, 2022 - 10:45 PM (IST)

नयी दिल्ली, 16 मई (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सोमवार को यहां पार्टी मुख्यालय में ''भाजपा को जानो'' पहल के तहत 14 देशों के दूतावास प्रमुखों के साथ संवाद किया।

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक इस संवाद में अमेरिका, न्यूजीलैंड, सूरीनाम, श्रीलंका, फिलिपीन, केन्या, इजरायल इंडोनिशया, फिजी, डोमिनिकन रिपब्लिक,डेनमार्क, कनाडा, भूटान और ऑस्ट्रलिया के दिल्ली स्थित राजनयिकों ने हिस्सा लिया।

संवाद के दौरान नड्डा ने उन्हें भाजपा के इतिहास के साथ-साथ पार्टी संगठन की विशेषताओं एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जारी भाजपा की नीति एवं रीति के बारे में विस्तार से अवगत कराया।

इस संवाद कार्यक्रम में नड्डा के साथ पार्टी के विदेश विभाग के प्रभारी डॉ विजय चौथाईवाले, पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डी के अरुणा, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं पार्टी के केंद्रीय कार्यालय के प्रभारी अरुण सिंह (सांसद) एवं पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद जफ़र इस्लाम भी उपस्थित थे।

पार्टी की ओर से जारी बयान के मुताबिक कार्यक्रम में शामिल अधिकतर राजनयिकों ने नड्डा से देशों के बीच जन-संपर्क, सांस्कृतिक मेलजोल, साहित्य के आदान-प्रदान और अपने-अपने देशों की राजनीतिक पार्टियों के बीच संपर्क तथा विचार विनिमय को लेकर राय रखी।
बयान में कहा गया कि पार्टी अध्यक्ष ने इन सुझावों पर अमल करने की सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि निकट भविष्य में ही इस तरह के कार्यक्रमों की रचना की जायेगी।

इसके अनुसार विदेशों में रह रहे भारतीयों को देश के लिए संपत्ति बताते हुए नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने विदेशों में रह रहे लगभग तीन करोड़ भारत वासियों से जिस तरह संपर्क स्थापित किया है और उन्हें प्रोत्साहित किया है, वह अतुलनीय है। उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया में जहां कहीं भी भारतीय नागरिक हैं, उन्होंने अपनी संस्कृति को सहेजते हुए वहां की स्थानीय संस्कृति को अपनाया और उस देश को समृद्ध बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।’’
बयान के अनुसार नड्डा ने राजनयिकों को बताया कि भाजपा एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसमें मंडल अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक हर तीन साल पर तय चुनाव के जरिये चुने जाते हैं।

इससे पहले नड्डा ने छह अप्रैल को भाजपा के स्थापना दिवस पर विशेष रूप से विदेशी राजनयिकों को पार्टी की ऐतिहासिक यात्रा और जारी गतिविधियों के बारे में सूचित करने के लिए ये पहल शुरू की थी और तब 13 देशों के मिशन प्रमुखों के साथ बातचीत की थी।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News