युवाओं को कुशल बनाने के लिए समग्र खाका होना आवश्यक : सिद्धू

punjabkesari.in Sunday, Jan 23, 2022 - 12:43 AM (IST)

चंडीगढ़, 22 जनवरी (भाषा) कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने शनिवार को कहा कि देश में युवाओं के लिए अनुकूल माहौल बनाने और विदेश जाने से रोकने के लिए उन्हें कुशल बनाने के वास्ते एक समग्र खाका होना आवश्यक है।

अपने ‘‘पंजाब मॉडल’’ की विशेषताओं का उल्लेख करते हुए सिद्धू ने कहा कि यह केवल एक चुनावी मॉडल नहीं है, बल्कि राज्य के लोगों के लिए बनाए गए भौगोलिक, सामाजिक और आर्थिक कारकों पर आधारित एक अच्छी तरह से शोध किया गया समाधान है। सिद्धू ने कहा, ‘‘आज के युवा पंजाब को उम्मीद बंधाते हैं। उनके पास अपार ऊर्जा है और यह भारत और विदेशों में उनकी उपलब्धियों से साबित हुआ है।’’
प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि इस कारण युवाओं के लिए अनुकूल वातावरण बनाने और उन्हें उद्यमिता तथा खेल सहित विभिन्न क्षेत्रों में कुशल बनाने के लिए एक समग्र खाका होना बहुत आवश्यक है ताकि उन्हें विदेश जाने की आवश्यकता न पड़े। उन्होंने कहा, ‘‘एक या दो सूत्री योजना की आवश्यकता नहीं है, समाधान एक बहुआयामी दृष्टिकोण है, जिसका मैं आज खुलासा करने जा रहा हूं।’’
सिद्धू ने कहा, ‘‘इसलिए, उद्यमिता और कौशल विकास के लिए पंजाब के विभिन्न हिस्सों में 10 औद्योगिक और 13 खाद्य प्रसंस्करण क्लस्टर स्थापित करना होगा, जो प्रासंगिक और आवश्यक कौशल प्रशिक्षण संस्थानों के साथ सुविधा प्रदान करेगा।’’
उन्होंने कहा कि मोहाली पंजाब का स्टार्ट-अप और आईटी हब होगा। सिद्धू ने कहा, ‘‘उन्नत सूचना प्रौद्योगिकी केंद्र (आईटी हब) स्थापित करने और मोहाली में स्टार्टअप सिटी बनाने के साथ, इसके ‘मिलेनियम टेक-सिटी’ बनने की उम्मीद है और मोहाली उत्तर भारत की सिलिकॉन वैली बन जाएगी।’’
उन्होंने कहा कि लुधियाना इलेक्ट्रिक वाहन निर्माण का केंद्र होगा। पंजाब में इलेक्ट्रिक वाहनों और सेमीकंडक्टर उद्योगों का केंद्र बनने की क्षमता है। अमृतसर को मेडिकल और टूरिज्म हब और जालंधर को चिकित्सकीय उपकरणों तथा खेल से जुड़े सामानों का क्लस्टर बनाया जाएगा।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News