सीएसआर गतिविधियों के तहत शिक्षा पर व्यय में वृद्धि के लिए आम सहमति बनाने की जरूरत : प्रधान

punjabkesari.in Thursday, Dec 09, 2021 - 09:53 AM (IST)

नयी दिल्ली, आठ दिसंबर (भाषा) केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को कहा कि निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) गतिविधियों के तहत शिक्षा और अनुसंधान पर खर्च बढ़ाने के संबंध में आम सहमति बनाने की आवश्यकता है।

प्रधान ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों का जवाब देते हुए कहा कि सरकार शिक्षा से संबंधित बुनियादी ढांचे के प्रसार के लिए ‘आकांक्षी जिलों’ पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही है।

उन्होंने कहा कि अब भी, सीएसआर के दायरे में शिक्षा शामिल है लेकिन हमें ऐसा माहौल और आम सहमति बनाने की आवश्यकता है कि सीएसआर का अधिकांश खर्च शिक्षा व अनुसंधान पर हो। उन्होंने कहा कि हमारा भविष्य इससे जुड़ा है।

प्रधान ने कहा कि कई निजी संस्थाएं बड़े पैमाने पर शिक्षा पर जोर दे रही हैं। उन्होंने इसे सकारात्मक कदम बताते हुए निजी कंपनियों से शिक्षा पर अपना खर्च बढ़ाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि कुछ ही दिनों में सरकार द्वारा राष्ट्रीय उच्च शिक्षा अभियान (रूसा) तीन शुरू किया जाएगा जिसमें पिछड़े और ‘आकांक्षी’ जिलों में शिक्षा को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी।

उन्होंने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें अगले पांच वर्षों में स्कूली शिक्षा पर तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश करेंगी और उनमें नवाचार तथा प्रयोगशालाओं पर जोर दिया जाएगा।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News